बोधगया में विदेशी पर्यटकों ने जमकर खेली होली

698
0
SHARE

पटना: बसंत ऋतु के आते ही राग, संगीत और रंग का त्यौहार होली,खुशियों और भाईचारे के सन्देश के साथ अपने रंग-बिरंगी आंचल में सबको ढंक लेती है। इसी का परिणाम है कि बिहार के बोधगया में पिछले कुछ सालों से होली के अवसर पर विदेशी पर्यटकों को काफी आकर्षित करता है। इसलिए सात समंदर पार से होली मनाने बोधगया आ जाते है।

विदेशी पर्यटकों को बोधगया लाने में स्थानीय एनजीओ की महत्वपूर्ण भूमिका है। इस बार भी कई देशों से पर्यटक बोधगया पहुंचे हैं। इन लोगों ने जमकर होली खेलना शुरू कर दिया है।

बोधगया में गैर सरकारी स्वयंसेवी संस्थाओं की पहल पर कई देशों के पर्यटक पर्व के दौरान हिस्सा लेने आते हैं। होली भी इससे अछूता नहीं है। फ्रांस, जर्मनी के लोग होली मनाने यहां आये है जो अबीर गुलाल का भरपूर आनंद उठा रहे हैं।

बोधगया के गैर सरकारी स्वयंसेवी संस्था विदेशी सहायता से चलाए जाते हैं। यही कारण है कि विदेशी पर्यटकों का आवागमन सुलभ है। भारतीय संस्कृति प्रारंभ से ही लोगों को आकर्षित करता रहा है।

जेन अमिताभ वेलफेयर ट्रस्ट, सिद्धार्थ कंपैशन ट्रस्ट, पीपुल फर्स्ट, बोधिट्री, एकोलस ले तेरे, बाउल ऑफ कंपैशन सहित कई दूसरे भी है, जिनके कारण विदेशी पर्यटकों का आवागमन होता है। वैसे विदेशी पर्यटक अपना शेड्यूल निर्धारित कर बोधगया पहुंचते हैं और रंग-अबीर खेलने का मौका नहीं छोड़ते हैं। इनकी खासियत है कि यह अकेले होली नहीं खेलते है बल्कि वहां के लोगों के साथ आनंद उठाते है।