भाजपा के राष्ट्रीय कार्यकारी अध्यक्ष जेoपीo नड्डा का पटना में भव्य स्वागत

100
0
SHARE

पटना – भाजपा के राष्ट्रीय कार्यकारी अध्यक्ष जेoपीo नड्डा के पटना पहुँचने पर उनका भव्य स्वागत किया गया। उनके साथ भाजपा के राष्ट्रीय महामंत्री, राज्यसभा सांसद व बिहार प्रभारी भूपेन्द्र यादव भी दिल्ली से आये। फिर एक भव्य जुलूस के साथ बापू सभागार के लिए रवाना हुए। जेo पीo नड्डा का मोटरसाइकिल एवं चारपहिया वाहनों का काफिला एयरपोर्ट से बेली रोड पर शेखपुरा मोड़ के रास्ते से गुजरा जहाँ भाजपा के विभिन्न संगठनों, मंच, मोर्चा, प्रकोष्ठ से जुड़े लोग उनके स्वागत में कतारबद्ध और भीड़ की शक्ल में खड़े थे।

जेoपीo नड्डा का स्वागत शेखपुरा मोड़, शास्त्रीनगर, पुनाईचक, चिड़ियाघर के सामने, हाईकोर्ट के सामने, वीमेंस कॉलेज के सामने, विद्युत भवन के सामने, आयकर गोलम्बर, डाक बंगला, रेडियो स्टेशन, यूथ हॉस्टल, जेपी गोलम्बर, बिस्कोमान के पास पूरे उत्साह के साथ उपस्थित कार्यकर्ताओं ने किया।

एयरपोर्ट पर जेoपीoनड्डा के स्वागत के लिए मौजूद लोगों में राष्ट्रीय महामंत्री व भाजपा के बिहार प्रभारी भूपेन्द्र यादव, प्रदेश अध्यक्ष डॉ० संजय जायसवाल, उपमुख्यमंत्री सुशील कुमार मोदी, प्रदेश संगठन महामंत्री नागेन्द्र जी, प्रदेश सह संगठन महामंत्री शिवनारायण जी, केन्द्रीय मंत्री नित्यानंद राय, अश्विनी कुमार चौबे, बिहार सरकार में शामिल भाजपा के मंत्रीगण मंगल पाण्डेय, डॉ० प्रेम कुमार, राम नारायण मंडल, प्रमोद कुमार, विनोद नारायण झा, सुरेश शर्मा, विजय कुमार सिन्हा, राणा रणधीर सिंह, विनोद कुमार सिंह, ब्रज किशोर बिन्द, कृष्ण कुमार ऋषि, भाजपा के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष रेणु देवी, राष्ट्रीय मंत्री रजनीश कुमार सिंह, राष्ट्रीय मीडिया सह प्रभारी संजय मयूख और भाजपा के सांसदगण व प्रदेश पदाधिकारियों की उपस्थिति रही।

भाजपा के राष्ट्रीय कार्यकारी अध्यक्ष जेo पीo नड्डा ने कैलाशपति मिश्र स्मृति न्यास द्वारा आयोजित कैलाशपति मिश्र की पुण्यतिथि पर कहा कि वे नींव के पत्थर हैं, उन्होंने समाज के हर वर्ग को जोड़ने का काम किया। पिछड़े वर्ग की लड़ाई को कैलाश जी ने लड़ा और वो आरक्षण के लिए चट्टान बनकर डटे रहे थे। कैलाश जी के साथ बिताए समय को याद करते हुए उन्होंने कहा कि कैलाश जी भाजपा के प्रथम पीढ़ी तथा प्रथम पंक्ति के नेता थे। राजनीतिक सत्ता कभी उनका उद्देश्य नहीं था बल्कि मां भारती की तस्वीर बदले यही कामना थी और इसलिए घर घर में जनसंघ का दिया जले, इसका प्रयास वह आजीवन करते रहे।

उन्होंने कहा कि कैलाश ने स्वंय को एक कुशल प्रशासक, कुशल संगठनकर्ता और श्रेष्ठ विचारक के तौर पर स्थापित किया, इसलिए कैलाश जी को हमें वटवृक्ष के नींव के तौर पर याद करना चाहिए। कार्यकर्ताओं को जब भी संगठन के बारे में सोचना हो या कोई कठिनाई आए तो कैलाश जी के जीवन को याद करें, इससे आपकी संगठनात्मक दृष्टि बदलेगी। उन्होंने कहा कि आज देश में हमारी विपक्षी पार्टी नम्बर दो के लिए लड़ती है, 54 दिनों में हम 11 करोड़ से 17 करोड़ सदस्यों वाली पार्टी बन गए हैं। बिहार ने सदस्यता अभियान में बेहतर काम किया और मैं बिहार भाजपा को धन्यवाद देता हूँ।

आगे कहा कि जब मैं एवीबीपी में था तो लोगों ने कहा कि बिना जाति की राजनीति नहीं हो सकती, जब मैं हिमाचल गया तो कांग्रेस ने कहा कि पावर के बिना राजनीति नहीं हो सकती, वामपंथ के लोग कहते थे कि लाल क्रांति के बिना कुछ नही हो सकता है लेकिन बीजेपी ने सभी मिथकों को तोड़ दिया। राजनीति में तीन तरह के लोग आते हैं, कोई बाईचांस आता है, कोई बाई च्वाईश आता है, कोई बाई एक्सीडेंट आता है लेकिन जो भी भाजपा में आए हैं, उनके लिए यह पार्टी बेस्ट ऑप्शन है। सामाजिक समरसता के लिए हमने आर्थिक आधार पर आरक्षण की व्यवस्था को लागू किया। पिछड़ों की राजनीति करने वाले लोग कभी ओबीसी को संवैधानिक दर्जा नहीं दिला पाए, हमने ही वह काम किया। कमजोर वर्गों को आरक्षण देने में भी 70 साल लग गए लेकिन प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी जी ने ही ओबीसी कमीशन को संवैधानिक दर्जा देने का काम कर के दिखाया।

प्रधानमंत्री का जिक्र करते हुए उन्होंने कहा कि नरेंद्र मोदी ने सामाजिक समरसता के साथ कई फैसले लिए हैं। आज सैन्य शक्ति की बात करें तो 36 राफेल तथा 28 अपाचे हेलीकॉप्टर भारत के पास हैं। भारत अब बुलेटप्रूफ जैकेट दूसरे देशों को दे रहा है। अब अभिनन्दन को पाकिस्तान लड़ने नहीं जाना होगा, अब हम भारत से ही पाकिस्तान के छक्के छुड़ा देंगे। आज भारत का मान पूरी दुनिया में बढ़ गया है, आज विश्व भारत के उभार को देख रही है। आज दुनिया भारत को देख रही है। भाजपा दुनिया की सबसे बड़ी पार्टी है और भाजपा के अंदर आने का रास्ता है परंतु बाहर जाने का नहीं उन्होंने आह्वान किया कि भाजपा ज्वाइन कीजिए धारा तथा मां भारती को मजबूत कीजिए।

उप मुख्यमंत्री सुशील कुमार मोदी ने पटना में कैलाशपति मिश्र की पुण्यतिथि समारोह में कहा कि बीजेपी में पहली बार कोई बिहारी राष्ट्रीय कार्यकारी अध्यक्ष बना। कैलाशपति मिश्र ने बिहार बीजेपी को मजबूत किया, कैलाशपति मिश्र ने चार बार बिहार में सरकार बनाने में भूमिका निभाई। बिहार में गठबंधन की सरकार विकास कर रही है। अगले चार सालों में बिहार में 13 मेडिकल कॉलेज खुलेंगे।

बिहार भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष सांसद संजय जायसवाल ने कैलाश जी को प्रेरणा की पूंजी बताया। अपने बचपन को याद करते हुए उन्होंने कहा वह कैलाश जी को छोटे आयु से देखते आए हैं | जब चंपारण में उनका प्रवास होता था तब वह हमारे घर पर रुकते थे । उनका स्नेह कृतित्व है कि आज भाजपा इतनी बड़ी पार्टी बनकर उभरी है। पुराने दौर को याद करते हुए उन्होंने कहा कि पूर्व में 10 से 12 लोग जनसंघ भाजपा के बैठक में आते थे, आज बिहार के सबसे बडे सभागार को हमने महापर्व छठ की छुट्टियों के बाद भर दिया है, यह सब उनकी तपस्या का परिणाम है और यही उनको सच्ची श्रद्धाजलि है। कार्यकर्ताओं को अहंकार त्यागकर उनसे प्रेरणा लेकर आगे बढ़ने का समय है, क्योंकि हमारे सामने अनंत आकाश है और एक संगठन के तौर पर हमें बहुत कुछ पाना शेष है । उन्होंने राष्ट्रीय कार्यकारी अध्यक्ष जेपी नड्डा जी को धन्यवाद देते ही कहा की मैने इनसे बहुत कुछ सीखा है।

कैलाश जी को याद करते हुए उनकी बहू पूर्व विधायक तथा महिला आयोग की अध्यक्ष दिलमणि देवी भावुक हो उठीं। सांसद आर के सिन्हा ने कैलाश जी को भाजपा का धरोहर बताया। सांसद सीपी ठाकुर ने उनके साथ के अपने पुराने दिनों को याद करते हुए कहा कि मैं भाजपा में कैलाश जी के वजह से हूँ । सांसद गोपाल नारायण सिंह ने कहा कि उनकी इच्छा थी कि भाजपा बिहार में अपने दम पर सरकार बनाये। उन्होंने अपने जीवन पर कैलाश जी के प्रभाव का वर्णन किया। बिहार सरकार के मंत्री प्रमोद कुमार ने भी कैलाश जी को याद किया।

पटना के बापू सभागार में कैलाशपति मिश्रा स्मृति न्यास द्वारा आयोजित भाजपा के भीष्म पितामह काहे जाने वाले कैलाशपति मिश्रा की पुण्यतिथि कार्यक्रम में मुख्य अतिथि जेo पीo नड्डा के बेहतरीन सम्बोधन से कार्यकर्ता गदगद रहें। कार्यक्रम में विशिष्ट अतिथि के रूप में भूपेन्द्र यादव खासतौर पर मौजूद रहे । सभा का संचालन कैलाशपति मिश्र स्मृति न्यास के सचिव एवं विधान पार्षद कृष्ण कुमार सिंह ने किया, वहीं कार्यक्रम की समाप्ति पर धन्यवाद ज्ञापन न्यास के कोषाध्यक्ष सुरेश रुंगटा ने किया।

कार्यक्रम में बिहार के उपमुख्यमंत्री सुशील कुमार मोदी, केंद्रीय गृह राज्यमंत्री नित्यानंद राय, केंद्रीय स्वास्थ्य राज्यमंत्री अश्विनी चौबे, बिहार सरकार के मंत्रीगण मंगल पांडेय, प्रेम कुमार, विनोद सिंह, राणा रणधीर सिंह, प्रमोद कुमार, सुरेश शर्मा, विजय कुमार सिन्हा, सांसद राधामोहन सिंह, डॉ० सी पी ठाकुर, राजीव प्रताप रूढ़ी, छेदी पासवान, गोपालजी ठाकुर, सुशील कुमार सिंह, सतीश दुबे, रमा देवी, राकेश सिन्हा, अशोक कुमार यादव, प्रदीप सिंह, अजय निषाद, गोपाल नारायण सिंह, आर के सिन्हा, प्रदेश संगठन महामंत्री नागेन्द्र जी, बिहार महिला आयोग की अध्यक्ष दिलमणि देवी, भाजपा के पदाधिकारी राजेन्द्र सिंह, राधा मोहन शर्मा, सुशील चौधरी, नितीश मिश्रा, अनिल शर्मा, प्रमोद चंद्रवंशी, अमृता भूषण, राजेश वर्मा, सुरेश रुंगटा अन्य उपस्थित रहें।