भारतीय संस्कृति शांति, सद्भावना और समाहार में विश्वास करती है – राज्यपाल

198
0
SHARE

पटना – ‘‘भारतीय संस्कृति शांति, सद्भावना और समाहार में विश्वास करती है। प्रभु श्रीराम ने दानवी शक्ति को पराजित कर शांति, प्रेम, भाईचारा और सद्भावना पर आधारित सनातन भारतीय संस्कृति की स्थापना की थी। दीपोत्सव उनके रावण-वध कर अयोध्या लौटने की खुशी में मनाया जाता है।’’ ’उक्त उद्गार महामहिम राज्यपाल, बिहार लाल जी टंडन ने आज अयोध्या में आयोजित ‘दीपोत्सव-अयोध्या-2018’ समारोह की अध्यक्षता करते हुए व्यक्त किये।

राज्यपाल टंडन ने कहा कि मैं उस प्रदेश के लोगों की श्रद्धा निवेदित करने आया हूँ, जो जगत जननी माता जानकी की जन्मभूमि है। राज्यपाल ने कहा कि प्रेम, शांति, न्याय और सद्भावना की सीख हमें प्रभु श्रीराम से मिलती है।

समारोह को उत्तर प्रदेश के राज्यपाल राम नाइक, उ॰प्र॰ के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ, कोरिया गणराज्य की प्रथम महिला किंग जोंग सुक, केन्द्रीय विदेश राज्यमंत्री जनरल बी॰के॰ सिंह (से॰नि॰) सहित कई नेताओं ने संबोधित किया।