मंगलसुत्र बेच शौचालय निर्माण कर समाज में मिशाल पेश की अतरवासी देवी ने

396
0
SHARE

कैमूर- बिहार के कैमूर जिले की एक महिला दूसरों के लिए मिशाल बन गई है। जिसने अपने पति के जिंदा रहते हुए अपना मंगलसूत्र बेचकर घर में शौचालय का निर्माण कराया है। इस महिला का नाम है अतरवासी देवी, जिन्होंने मंगल सूत्र को बेचकर घर में शौचालय बना डाला। गांव से लेकर जिले तक अतरवासी देवी चर्चा की विषय के साथ मिसाल बनी हुई हैं।

मामला भभुआ प्रखंड के शिवपुर गांव का है। गरीब होते हुवे भी अतरवासी देवी खेतो में काम कर अपने परिवार का पेट भरती है। अतरवासी देवी बताती है कि घर में शौचालय नहीं था। घर की महिलाएं खुले में शौच करने जाती थी। बहुत खराब लगता था। फिर खुले में शौच करने पर रोक लग गई। इस पर मैंने अपने पति से सलाह ली कि मजदूरी से घर में शौचालय तो बनेगा नहीं, क्यों न गले का मंगल सूत्र बेचकर घर में शौचालय बना दिया जाए।
जिस पर पति की पहले सहमति नही बानी, अतरवासी देवी के पति हरेंद्र यादव ने बताया कि सुहागिन महिला के लिए गले के मंगलसूत्र का बड़ा महत्व होता है।

पति की मौत के बाद ही महिला गले का मंगल सूत्र छोड़ती है। लेकिन बाद में मैने समझाया कि इज्जत से बढ़कर निशानी नही होता है तो ये मान गये। फिर अतरवासी देवी ने पति के रहते अपने गले का मंगल सूत्र बेच दिया, और घर में शौचालय बना दिया। उसके इस फैसले से सभी खुश है। मंगलसूत्र तो बाद में भी बन जाएगा। वहीं इस पंचायत की मुखिया ने इसे एक दूसरे के लिये मिशाल बताया और कहा कि अतरवासी देवी गरीब होते हुवे भी इस कार्य मे गरीबी को नहीं आने दिया। वहीं जिलाधिकारी राजेश्वर प्रसाद सिंह ने बताया कि ऐसे महिला को हम मंच पर सम्मानित करेंगे। क्योंकि वे दूसरे लोगो के लिये आदर्श बनी हुई हैं।