मंदसौर घटना पर बोले पूर्व मुख्यमंत्री जीतनराम मांझी, कहा- मरने वालों में किसान नहीं

532
0
SHARE

गया/ संवाददाता-

बिहार के पूर्व सीएम जीतन राम मांझी ने प्रेस कॉन्फ्रेंस में कहा कि बरेली के बाजार में झुमका गिरा रे, हम चुप रहेंगे कुछ नहीं बोलेंगे… हाय रे सितम… हम प्रेम करते रहेंगे, गाना गाते हुए अंदाज में नीतीश कुमार को कहा कि वे भी इसी तरह जबड़ा लगा कर चुप है। इंटर परीक्षा में 8 लाख परीक्षार्थी फेल हुए हैं । इसका मुख्य कारण बिहार की शिक्षा व्यवस्था है। नीतीश कुमार मुख्यमंत्री के काल में 12 वर्षों से हैं। मतलब 2005 में नीतीश सीएम बने, उस वक़्त जो छात्र स्कूल में पहली कक्षा में नामांकन कराया होगा। वह आज इंटर का परीक्षा दिया है, जिसका रिजल्ट आया है। जब सब लोग पढ़ लेगा तो नेता कौन मानेगा शायद यही सोच नीतीश कुमार का है। जीविका पर उन्होंने कहा कि ये नीतीश कुमार के लिए पैगम्बर के अवतार बने हैं। बच्चे फेल हो रहे हैं और शिक्षक पैसा खा रहे हैं। टॉपर घोटाले ने बिहार के नाम को कलंकित किया है। इंटर बोर्ड के अध्यक्ष आनंद किशोर, शिक्षा मंत्री सहित मुख्यमंत्री को खुद भी इस्तीफा दे देना चाहिए। एमपी में किसानों पर कहा कि जब वहां के मुख्यमंत्री तैयार हैं तो लोग किसानों पर अपनी राजनीतिक रोटी सेकने में लगे हैं। मरने वालों में किसान नहीं हैं। जंहा किसानों के सामने सही में परेशानी है वहां आजतक किसानों ने आंदोलन नहीं किया।