महादलित की गोली मार हत्या मामले में भारत सरकार के राष्ट्रीय अनुसूचित जाति आयोग ने लिया संज्ञान

218
0
SHARE

सुपौल – पिछले 29 अगस्त को जमीनी विवाद में महादलित युवक की गोली मारकर हत्या कर देने के मामले में भारत सरकार के राष्ट्रीय अनुसूचित जाति आयोग ने संज्ञान लिया है। आयोग के सदस्य योगेन्द्र पासवान आज मृतक के घर पहुंच उनकी विधवा से घटना की जानकारी ली और सरकार द्बारा हर संभव मदद दिलाने का आश्वासन भी दिया।

इस दौरान पासवान ने कहा कि घटना की जितनी निंदा की जाए कम है। उन्होंने कहा कि वे चाहते हैं कि इस मामले में हत्यारे की जल्द गिरफ्तारी कर पुलिस उसे सख्त सजा दिलाए उसके विरुद्ध स्पीडी ट्रायल किया जाए। साथ ही कहा कि हत्यारों द्वारा पीड़ित परिवार के विरुद्ध जो झूठा मामला दर्ज करवाया गया है उसकी जांच और समीक्षा कर इनलोगों को राहत दें।

इसके अलावे कहा कि एससी एसटी एक्ट के तहत पीड़ित परिवार को पोस्टमार्टम रिपोर्ट के बाद 4 लाख 12 हजार 5 सौ रुपया का भुगतान हो गया है। इसके अलावे चार्ज शीट समर्पित करने के बाद पुनः उतनी ही राशि मृतक के विधवा को भुगतान किया जायेगा और एससीएसटी एक्ट के तहत मृतक के विधवा को पेंशन दिया जायेगा। वहीं उन्होंने कहा कि वे खुद डीएम से मिलेंगे और उनसे अनुबंध के आधार पर विधवा को नौकरी मिले इसके लिए बात की जायेगी। इस मौके पर उनके साथ सदर एसडीओ कयूम अंसारी, डीएसपी विद्यासागर भी मौजूद थे।

मालूम हो कि सदर थाना क्षेत्र के राजा खरहोड़ गांव में पिछले 29 तारीख को गांव के शत्रुघ्न यादव और उनके लोगों ने एक महादलित गजेन्द्र सादा की गोली मारकर हत्या कर दी गयी थी जिसके बाद इस मामले में आठ को हत्यारोपी बनाया गया था। जिसमें तीन की गिरफ्तारी हो चुकी है। बाकी हत्या रोपी की गिरफ्तारी नहीं होने के कारण शुक्रवार को मृतक के परिजनों ने एसपी आवास के सामने प्रदर्शन भी किया था।