मां की हत्या का नहीं मिला सुराग, गृह मंत्रालय को भेजी रिपोर्ट

208
0
SHARE

मोतिहारी/ संवाददाता-

ढाका के बहुचर्चित सिमरन कांड में बिहार सरकार के गृह विभाग (आरबी शाखा) ने गृह मंत्रालय को रिपोर्ट भेज दी है। रिपोर्ट में सिमरन के पिता राजीव कुमार सिंह हत्याकांड (डुमरा थाना कांड संख्या 318/10) में 12 अभियुक्तों के विरुद्ध आरोप पत्र समर्पित करने का उल्लेख करते हुए कहा गया है कि उसकी मां की हत्या के संबंध में कुछ पता नहीं चल सका। ढाका कांड में मुख्य आरोपित मोहमद शमीम व प्राथमिकी सभी अभियुक्तों के पूर्व का अपराधिक इतिहास भी खंगालने की बात कही गयी है। अब तक मिले अपराधिक रिकार्ड के अनुसार अभियुक्तों पर विभिन्न थानों में 14 मामले दर्ज हैं। भाई अमनदीप सिंह की हत्या में अमरेश सिंह सहित आठ नामजद अभियुक्त के विरुद्ध आरोप पत्र समर्पित किया गया है। मामले की जांच पुलिस महानिरीक्षक द्वारा की गयी है। सिमरन कांड में शमीम के साथ आरोपित चंदन व खालिद का अब तक पुलिस को कोई सुराग नहीं मिल सका है। दोनों आरोपियों की खोज पुलिस के लिए अबूझ पहेली बनी हुई है कि आखिर चंदन व खालिद कौन हैं। सूत्रों के अनुसार चंदन ढाका के पास का एक युवक है जो सिमरन की रखवाली करता था। जबकि खालिद सिमरन को सिलीगुड़ी ले जाकर कुछ दिन साथ रखा था। ढाका थानाध्यक्ष राकेश कुमार ने बताया कि दोनों आरोपियों की अब तक पहचान न हो सकी है। इसके खोज के लिए पुलिस लगातार प्रयासरत है।

सिमरन कांड एक नजर में…

1-पिता राजीव सिंह की हत्या – डुमरा थाना कांड संख्या 318/2010 मामले में 12 नामजद

2-भाई अमनदीप (DAV की छात्र) की हत्या- डुमरा थाना कांड संख्या 05/2009

3-2012 में मां खुशबू की सूई देकर हत्या-पुलिस को न शव मिला न सुराग

4-सिमरन कांड ढाका- थाना कांड संख्या 44/15