मुंगेर से 160 अर्धनिर्मित पिस्टल बरामद

1290
0
SHARE
मुंगेर: मुंगेर पुलिस ने गुप्त सूचना के आधार पर 160 अर्धनिर्मित पिस्टल बरामद किया।पिस्टल झारखंड के साहिबगंज जिला के तेल झरिया से मुंगेर लाया जा रहा था। इस संबंध में मुंगेर के आरक्षी अधीक्षक आशीष भारती ने बताया कि एसटीएफ और मुंगेर पुलिस को गुप्त सूचना मिली की हथियार का जखीरा सड़क मार्ग से मुंगेर लाया जा रहा है तो मुंगेर पुलिस ने असरगंज ,तारापुर और घोरघट के पास वाहन  चेकिंग सघन रूप से आरंभ कर दिया।
इसी दरमियान बरियारपुर थाना क्षेत्र के घोरघट पुल के पास एक ब्लू रंग की हुंडई w b- 02 4056 से 160 पिस्टल जो अर्धनिर्मित था और 160 बैरल भी बरामद कर लिया तथा दो लोगों को मुंगेर पुलिस ने गिरफ्तार किया। जितेंद्र कुमार पंडित, कासिम बाजार तथा संजय मंडल, दो नंबर गुमटी को गिरफ्तार किया गया। पूछताछ के क्रम मे जितेंद्र कुमार पंडित ने बताया कि वह मोहम्मद मेहताब के साथ मिलकर पार्टनरशिप में यह काम करता है और झारखंड के साहिबगंज जिला के तालझरी से मोहम्मद इकराम से यह हथियार मुंगेर लाया है।
IMG-20170206-WA0001_1486348694812गिरफ्तार अभियुक्त ने बताया कि वह इससे पहले भी ही 120 पिस्टल मुंगेर ला कर खपा चुका है। मुंगेर के आरक्षी अधिक्षक ने आगे बताया कि अब हथियार तस्कर वाहन को मोडिफाइड कर हथियार कुरियर करते हैं। आज जो हुंडई कार से हथियार बरामद हुई उस  कार के डिक्की के अंदर तथा पीछे वाले सीट के अंदर अलग चेम्बर बनाकर ख़ुफ़िया तरीके से ले जा रहे थे। एक बारगी तो हथियार नहीं मिला लेकिन सघन जाँच के बाद सीट के अंदर बनाये गए चेम्बर व डिक्की से हथियार मिल गया। यहां बताते चले कि मुंगेर जिला अवैध हथियारों के काली मंडी के नाम से मशहूर है। यहां काफी कम कीमत में आधुनिक से आधुनिक हथियार सुलभ तरीके से मिल जाता है। इसलिए पूरे भारत के अवैध हथियार निर्माताओं की नजर मुंगेर पर रहती है।