मुख्यमंत्री ने कहा, करकटगढ़ को इको टूरिज्म से जोड़ना है और वहाँ के गांव को भी इको टूरिज्म से विकास करना है

249
0
SHARE

दिलीप कुमार

कैमूर – जिले में आज बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार का दौरा हुआ। जिले के चैनपुर प्रखंड के पहाड़ी गांव पर स्थित करकट गढ़ गांव में स्थित करकटगढ़ जलप्रपात का जायजा लिया। मंच पर आकर संबोधन करते ही नीतीश कुमार ने जिला प्रशासन को चेताया। उन्होंने कहा कि मेरे हाथो उदघाटन कराने के बाद जो समय काम पूरा कराने का आपने दिया है उसे आप नियत समय में जरूर पूरा करें, नहीं तो मुझे नहीं बुलाये।

मुख्यमंत्री ने कहा कि जिले के चैनपुर प्रखंड के करकटगढ़ में जलप्रपात है, करकटगढ़ को इको टूरिज्म से जोड़ना है और वहाँ के गांव को भी इको टूरिज्म से विकास करना है। यहाँ दो नदियों का उदगम स्थल है जिसे देखने फिर आएंगे। यह भी पता चला है कि यहां दो बाघ है। टाइगर रिजर्व बनाने पर भी विचार किया जायेगा।

उन्होंने कहा कि पहाड़ो पर ऑफ ग्रिड से बिजली दिया जा रहा है। खेती के लिए अलग से फीडर बनेगा। हर घर बिजली का कनेक्शन देने का वादा किया था सो पूरा किया। 2019 के दिसंबर तक सभी को बिजली का कनेक्शन दे दिया जाएगा। इस साल के 31 दिसंबर तक बिजली के सभी पुराने तार बदल दिया जायगा। बिजली घर-घर पहुंचने से लालटेन का जरूरत नहीं रहा।

उन्होंने कहा कि कैमूर में पर्यावरण के दृष्टिकोण से बहुत उम्मीद है जिसे हमलोग बहुत आगे कैमूर को ले जाएंगे। बच्चों को पढ़ाईयेगा जरूर। इंटर के आगे यहां की लड़कियां कम पढ़ती है इसका प्रतिशत राष्ट्रीय स्तर पर 24 है, जिसे आगे ले जाएंगे। पढ़ाई में गरीबी आड़े न आये उसके लिए क्रेडिट कार्ड मिलेगा। जो पढ़ कर नौकरी नहीं कर पाए जिससे पैसा नहीं लौटा पाएंगे तो उनका कर्ज माफ भी कर देंगे।