मुख्यमंत्री ने “सड़क सुरक्षा स्कूल जागरूकता वाहन” को दिखाया हरी झंडी

125
0
SHARE

पटना – मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने अधिवेशन भवन में बिहार स्टेट रोड डेवलपमेंट कॉरपोरेशन लिमिटेड के नौवें स्थापना दिवस समारोह का उद्घाटन किया। इस अवसर पर आयोजित कार्यक्रम को संबोधित करते हुए उन्होंने कहा कि सबसे पहले मैं बी0एस0आर0डी0सी0एल0 को नौवें स्थापना दिवस के मौके पर शुभकामनाएं देता हूँ। हमलोगों ने 2009 में इसकी स्थापना की थी। इसके गठन का उद्देश्य अधिक पथों के निर्माण के साथ-साथ उन्नत पथों का निर्माण करना है। इसी प्रकार पुल निर्माण निगम जो बंद होने के कगार पर था लेकिन हमलोगों ने आज इसे मुनाफे की स्थिति में ला दिया है। बी0एस0आर0डी0सी0एल0 की उपलब्धियां अच्छी हैं, इसके लिए भी मैं आप सब को बधाई देता हूँ। हमलोगों ने राज्य के सुदूरवर्ती इलाके से छह घंटे में पटना पहुंचने के लक्ष्य को प्राप्त कर लिया है। अब पांच घंटे में पटना पहुंचने के लक्ष्य को प्राप्त करने के लिए योजनाओं पर काम चल रहा है।

मुख्यमंत्री ने कहा कि राज्य में अच्छी सड़कें बनी हैं। वाहनों की संख्या भी बढ़ी है, आवागमन सुगम हुआ है इससे आमदनी एवं व्यापार में बढ़ोतरी हुई है। पूरे देश भर में बिहार में सबसे ज्यादा मोटरसाइकिल की बिक्री होती है। सड़कों पर दुपहिया वाहन से लेकर बड़ी एवं भारी वाहन भी तेजी से चल रहे हैं। अब समय आ गया है कि सड़क की सुरक्षा पर ध्यान दिया जाए। हाल ही में मुजफ्फरपुर में कई बच्चों की हादसे में मौत हो गई थीं, यह विचलित करने वाली घटना थी। सड़क सुरक्षा को लेकर लोगों को जागरूक करने की जरूरत है। हमने रोड सेफ्टी के लिए बैठक बुलायी थी और उसमें कहा कि गांव, घनी आबादी को ध्यान में रखते हुए निर्माण कार्य किया जाए, इसके लिए सड़क की सुरक्षा को देखते हुए रोड ओवरब्रिज का निर्माण करने की जरूरत है, जिसमें सिर्फ सीढ़ी ही नहीं हो बल्कि ऐसी ढाल हो कि दिव्यांग, किसानों को भी कुछ यंत्र ले जाने में सहुलियत हो। इसकी ऊंचाई इतनी हो कि किसी भी वाहन को आने-जाने में दिक्कत न हो।

उन्होंने कहा कि सड़क निर्माण में काफी खर्च किया जा रहा है, जिसकी विस्तृत जानकारी पथ निर्माण मंत्री एवं उप मुख्यमंत्री ने आपको दी है। जे0पी0 सेतु एलिवेटेड बना हुआ है और लोकनायक गंगा पथ बन रहा है। आज जमीन अधिग्रहण में काफी समस्या आ रही है। इसके लिए एलिवेटेड पुल पर हमलोग विशेष तौर पर ध्यान दे रहे हैं। आज चार जिलाधिकारियों को जमीन अधिग्रहण में सहयोग के लिए पुरस्कृत किया गया है। निश्चित तौर पर जमीन अधिग्रहण जैसे मामले में काफी परेशानी होती है। मुख्यमंत्री ने कहा कि हाल ही में मैं तीन दिवसीय जापान यात्रा पर गया था और इस दौरान सड़क किनारे एक भी जगह कागज का टुकड़ा दिखाई नहीं दिया। वहां के लोग स्वच्छता के प्रति कितने जागरूक हैं। दोनों हिस्सों में घनी आबादी के बावजूद तीन सौ किलोमीटर की स्पीड से वहां बुलेट ट्रेन चल रही है और लोगों को किसी भी तरह की परेशानी नहीं है। वहां जाकर आप सबको ऐसी मौलिक चीजों को समझना चाहिए। उन्होंने कहा कि बुनियादी तौर पर यहां की परिस्थिति के अनुसार इन चीजों को अपनाना चाहिए।

उन्होंने आगे कहा कि हमलोग संसाधन का प्रबंध करते रहेंगे, आप लोग इंजीनियर से खासकर के गुजारिश करूंगा कि एक-एक चीज पर ध्यान दीजिए। यह आप सबकी जिम्मेदारी है, इसका श्रेय भी आपको मिलेगा। ऐसी तकनीक पर मंथन कीजिए, ऐसा प्रोसेजर बनाइये कि समय पर काम पूरा हो और व्यय भी कम हो। कचरे एवं प्लास्टिक का सड़क निर्माण में हो सकता है। इससे खर्च कम होगा और क्वालिटी भी उतनी ही मजबूत होगी। सड़क निर्माण में मिट्टी के हिसाब से अर्थ वर्क करने की जरूरत है ताकि स्मूथ सड़कें बन सके। आज पथ विकास निगम का स्थापना दिवस है, इसमें विकास मुख्य है, जिसमें निर्माण साथ-साथ है। निर्माण इस तरह का हो कि वह विकास का प्रतीक बने।

मुख्यमंत्री का स्वागत पथ निर्माण विभाग के प्रधान सचिव अमृत लाल मीणा ने पुष्प-गुच्छ और प्रतीक चिह्न भेंटकर किया। सड़क सुरक्षा के प्रति जागरूकता बढ़ाने को लेकर मुख्यमंत्री ने “सड़क सुरक्षा स्कूल जागरूकता वाहन” को हरी झंडी दिखाकर रवाना किया। यह वाहन प्रत्येक स्कूलों में जाकर रोड सेफ्टी को लेकर छात्रों को जागरूक करेगा। बी0एस0आर0डी0सी0एल0 द्वारा तैयार एक लघु फिल्म भी प्रदर्शित की गई। ऑनलाइन आवेदन प्राप्त करने के निमित्त वेब पोर्टल का भी मुख्यमंत्री ने उद्घाटन किया। इसकी सहायता से एस0सी0 एवं एस0टी0 लड़कियों एवं दिव्यांगों को सहायता प्रदान की जा सकेगी। बेहतर कार्य एवं सड़क निर्माण कार्यों में सहयोग के लिए पटना के जिलाधिकारी कुमार रवि, समस्तीपुर के जिलाधिकारी प्रणव कुमार, नालंदा के जिलाधिकारी त्याग राजन, भोजपुर के जिलाधिकारी संजीव कुमार सहित निगम के अन्य पदाधिकारी एवं कर्मचारियों को प्रशस्ति पत्र प्रदान कर सम्मानित किया गया।

इस अवसर पर उप मुख्यमंत्री सुशील कुमार मोदी, पथ निर्माण मंत्री नंदकिशोर यादव ने सभा को संबोधित किया। पथ निर्माण विभाग के प्रधान सचिव सह बी0एस0आर0डी0सी0एल0 के एम0डी0 अमृत लाल मीणा ने भी विभाग की उपलब्धियों की विस्तृत जानकारी दी। इस मौके पर मुख्य सचिव अंजनी कुमार सिंह, विकास आयुक्त शिशिर सिन्हा, मुख्यमंत्री के प्रधान सचिव चंचल कुमार, पथ निर्माण विभाग के अभियंता प्रमुख लक्ष्मी नारायण दास, बी0एस0आर0डी0सी0एल0 के महाप्रबंधक चंद्रशेखर एवं अन्य अधिकारीगण, अभियंतागण एवं बड़ी संख्या में अन्य गणमान्य व्यक्ति उपस्थित थे।