मोदी जी के चार साल में जनता बेहाल हो गई है – राजद

136
0
SHARE

पटना – राष्ट्रीय जनता दल के विधायक सह प्रदेश प्रवक्ता डाॅ0 रामानुज प्रसाद एवं राजद राष्ट्रीय परिषद सदस्य भाई अरूण कुमार ने आज मोदी सरकार के चार साल पूरा होने पर पत्रकारों को बताया कि मोदी जी के चार साल में जनता बेहाल हो गई है। जनता त्राहिमाम कर रही है। चार साल में मोदी जी ने प्रधानमंत्री पद की गरिमा को बहुत ही नीचे ले जाने का काम किया है। पहले लोग प्रधानमंत्री के बातों को विश्वास करते थे और उन्हें आशा रहती थी कि आज न कल उनकी घोषणा पर अमल होना ही है। परन्तु आज स्थिति यह है कि लोग प्रधानमंत्री की बातों को जुमलेबाजी के रूप में ही ले रहे हैं। क्योंकि प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी जी ने चुनाव पूर्व एवं प्रधानमंत्री बनने के बाद लालकिले के प्राचीर से घोषणा किये थे कि देश की जनता के अच्छे दिन आयेंगे, काला धन आयेंगे और प्रत्येक नागरिकों के खाते में 15-15 लाख रूपये जायेंगे। उन्होंने यह भी घोषणा किया था कि प्रत्येक साल देश के दो करोड़ बेरोजगार लोगों को नौकरी देंगे।

उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री जी ने यह भी घोषणा किया था कि न खाउंगा और न खाने दूंगा। मैं देश का प्रधानमंत्री के रूप में नहीं बल्कि चैकीदार के रूप में देश के खजाने की रक्षा करूंगा। परन्तु हुआ क्या? ना ही पन्द्रह लाख रूपये खाता में गये। लोगों को रोजगार मिलना तो दूर जो भी सरकारी नौकरियां थीं उसकी नियुक्ति पर ही रोक लगा दी। और तो और देखिये प्रधानमंत्री जी ने चाय और पकौड़ा को रोजगार से जोर दिया। हो सकता है कि आने वाले दिनों में प्रधानमंत्री जी भीख मांगने को भी रोजगार से जोड़ दें। जहां तक काला धन लाने की बात है तो काला धन लाना तो दूर नोटबंदी करके गरीबों का पैसा बैंक में जमा करवा दिया और वह पैसा विजय माल्या, निरव मोदी, ललित मोदी जैसे उद्योगपतियों के द्वारा बैंक का पैसा लेकर विदेश भगवा दिये और देश का चैकीदार सोता ही रह गया।

इन नेताओं ने कहा कि सारा देश आज महंगाई के आग में झुलस रही है। लोगों को दो जून की रोटी मिलना दुर्लभ हो गई है। पेट्रोलियम पदार्थ का मूल्य दिन दूना रात चैगुना बढ़ रही है। जब आम व्यक्ति एक बार टैंक फुल कराता है तो अंबानी जैसे उद्योगपतियों को 126 रूपये मिलते हैं ये सरकार अंबानी एवं अडानी के इशारों पर चल रही है एवं उनके मुनाफा के लिए काम कर रही है। गरीब और भी गरीब हो रहे हैं और अमिर और भी अमीर हो रहे हैं। यह सरकार जनता के लिए न होकर अपने लिये एवं अपने उद्योगपति मित्रों के लिए काम कर रही है। इनकी महत्वकांक्षा दिन पर दिन बढ़ती जा रही है। कई राज्यों में उन्होंने बहुमत नहीं होने के बावजूद भी सरकार बनाने का काम किया। इनकी अपनी महत्वाकांक्षा के कारण लोकतंत्र भी शर्मसार हो गई। जिस प्रकार कर्नाटका में इन्होंने विधायकों को खरीद-फरोख्त कर सरकार बनाने का काम कर रहे थे वो इनके नहीं खायेंगे और नहीं खाने देंगे की दावे की पोल खोल रही थी। इन्होंने बेटी बचाओ-बेटी पढ़ाओ का जो अभियान चलाया वह सिर्फ नारा ही बनकर रह गया। इन्होंने बेटियों की सुरक्षा के लिए कुछ नहीं किया आज भी बेटियां असुरक्षित एवं अशिक्षित है। शिक्षा के क्षेत्र में भी यह सरकार फिसड्ी है।

उन्होंने आगे कहा कि यह सरकार आरएसएस के लिए भी काम कर रही है और आरएसएस के एजेंडे को लागू करने के लिए कृत संकल्पित दिख रही है। आरएसएस के एजेंडे के अनुसार समाज में विद्वेष एवं घृणा फैला रही है। ये गोलवकर के सिद्धांतों पर चलकर समाज में असमानता पैदा कर रही है। नरेन्द्र मोदी सरकार की अगर उपलब्धियां देखी जाय तो राष्ट्रीय जनता दल की नजर में सिर्फ एक ही उपलब्धि है कि वे सरकार के पैसे से सारे विश्व का भ्रमण करने का काम एवं सरकारी पैसा का दुरूपयोग कर अपना चेहरा चमकाने के लिए विज्ञापनों पर अरबों रूपया खर्च कर रही है तथा पूरे देश में साम्प्रदायिकता का माहौल खड़ा कर हिन्दू-मुस्लिम, सिख-इसाई को आपस में लड़वा कर अपना उल्लू सीधा करने का काम कर रही है।