राजद और कांग्रेस के 15 वर्षों के शासन काल में एक दर्जन सामूहिक नरसंहार हुए थे परन्तु पिछले 12 वर्षो में एनडीए के शासन काल में बिहार में एक भी दलित नरसंहार नहीं हुआ : उपमुख्यमंत्री

129
0
SHARE

पटना – विद्यापति भवन में पूर्व मुख्यमंत्री स्व0 भोला पासवान शास्त्री के जयंती पर कबीर के लोगों द्वारा भजनांजलि कार्यक्रम के अवसर पर बिहार के उप मुख्यमंत्री सुशील कुमार मोदी ने कहा कि एससी और एसटी का संसद और विधानमंडल में आरक्षण महात्मा गाॅधी पंडित मदन मोहन मालवीय डाॅ राजेन्द्र प्रसाद और राजा जी जैसे लोगों की देन है। अंग्रेजों ने तो दलितों को प्रथम निर्वाचन का अधिकार देकर दलित समाज को हिन्दू से अलग करने का षडयंत्र किया था परन्तु गाॅधी एवं अम्बेदकर ने अंग्रेजों के षडयंत्र को विफल कर दिया था।

मोदी ने कहा कि राजद और कांग्रेस के 15 वर्षो के शासन काल में बथानी टोला(21) लक्ष्मणपुर बाथे(58) मियांपुर(32) हैवसपुर(10) शंकर बीघा(23) नारायणपुर(11) जैसे एक दर्जन सामूहिक नरसंहार हुए थे परन्तु पिछले 12 वर्षो में एनडीए के शासन काल में बिहार में एक भी दलित नरसंहार नहीं हुआ।

उन्होंने कहा कि जब प्रोन्नति में आरक्षण को सर्वोच्च न्यायालय ने खारिज किया उस समय अटल बिहारी वाजपेयी सरकार ने संविधान में चार संशोधन कर उसको बहाल करने का काम किया।

उपमुख्यमंत्री ने कहा कि बिहार में भाजपा एवं जदयू की सरकार जहाॅ बीपीएससी और यूपीएससी की प्रारम्भिक परीक्षा उत्तीर्ण करने वाले एससी और एसटी के छात्रों को 50 हजार एवं एक लाख अनुदान दे रही है वहीं कल्याण छात्रावास में रहने वाले छात्रों को 15 किलो अनाज प्रति माह मुफ्त एवं 12 हजार आवासन भत्ता दे रही है। ग्राम परिवहन सेवा के लिए अधिकतम एक लाख अनुदान एवं उद्योग लगाने हेतु पाॅच लाख अनुदान एवं पाॅच लाख ब्याज मुक्त ऋण एससी और एसटी युवकों को दे रही हैं।

तो वहीं उपमुख्यमंत्री ने ट्वीट के जरिए लालू प्रसाद पर हमला करते हुए कहा कि लालू प्रसाद ने सत्ता गरीबों के नाम पर पायी, लेकिन अपने परिवार की सात पीढ़ी को अमीर बनाने में ऐसे लिप्त हुए कि सारी हदें पार कर दीं। बेटा-बेटी-दामाद, सबको फर्जी कंपनियों के जरिये सम्पत्ति बनाने के धंधे में लगा दिया। ११ लोगों के परिवार में आधा दर्जन लोग आरोपी हैं। ईडी अब बेटी-दामाद के खिलाफ पूरक चार्जशीट की तैयारी कर रही है,जबकि पार्टी संविधान बचाने का नाटक करती है।

उन्होंने कहा कि यूपीए शासन में राष्ट्रमंडल खेल से कोल ब्लाक आवंटन तक लाखों करोड़ रुपये के घोटालों के बावजूद भाजपा ने मनमोहन सिंह के लिए कभी ओछी भाषा का इस्तेमाल नहीं किया। राहुल गांधी नेशनल हेराल्ड धोखाधड़ी केस और राबर्ट वाड्रा के जमीन घोटाला को भूल कर देश के बेदाग प्रधानमंत्री पर घटिया नारेबाजी कर रहे हैं। छत्तीसगढ़ और मध्य प्रदेश में बसपा से झटका खाने के बाद राहुल का संतुलन बिगड़ गया है।

उन्होंने कहा कि राष्ट्रीय बचत पत्र, पीपीएफ, वरिष्ठ नागरिक और सुकन्या समृद्धि योजना पर ब्याज दर में ०.४ फीसद वृद्धि कर एनडीए सरकार ने छोटे बचतकर्ताओं को बड़ी राहत दी। बिहार के ज्यादा लोग इससे लाभ उठा सकेंगे।