राजद नेता की हत्या एक सुनियोजित साजिश – चित्तरंजन गगन

145
0
SHARE

पटना – राजद के प्रदेश प्रवक्ता चित्तरंजन गगन ने नवादा जिला राजद के महासचिव कैलाश पासवान की हत्या को राजनीतिक साजिश करार देते हुए एस.आई.टी. गठन करने की माँग की है।           

दरअसल 6 जुलाई को पासवान अपने घर नवादा नगर थाने के बुधौल गाँव से निकले थे। पर जब वे घर नहीं लौटे तो उनके पुत्र संजय पासवान ने स्थानीय थाने में अपहरण की आशंका की शिकायत दर्ज कराई थी। पर पुलिस निष्क्रिय बनी रही। तीन दिन बाद 9 जूलाई को उनका सिर कटा लाश नालंदा जिला के खुदागंज थाने मे पायी गई। 

राजद नेता ने कहा कि यदि पुलिस सक्रिय होती तो पासवान की जान बच सकती थी। पर उनके पुत्र द्वारा अपहरण की शंका संबंधी शिकायत के बावजूद पुलिस चुपचाप बैठी रही और उनकी हत्या कर दी गई। उनकी हत्या के लिए पुरे तौर पर स्थानीय पुलिस जिम्मेवार है। पर अब तक जिम्मेवार पुलिस पदाधिकारियों पर कोई कार्रवाई नही की गई। और न अबतक सही ढंग से घटना की तहकीकात हीं हो रही है।

राजद नेता ने इस घटना के पीछे किसी बडी साजिश की संभावना व्यक्त करते हुए एस.आई.टी. गठन करने, स्थानीय पुलिस के खिलाफ कार्रवाई करने, मृतक के परिवार को मुआवजा और पारिवारिक लाभ देने एवं साजिशकर्ता सहित हत्यारों को अविलम्ब गिरफ्तार कर फास्ट ट्रैक कोर्ट में सुनवाई करने की माँग की है।

राजद नेता ने कहा कि आज पूरे बिहार में अपराधियों का तांडव हो रहा है। हत्या, बलात्कार, अपहरण और लूट रोजमर्रा की बात हो गई है। कानून व्यवस्था सरकार के नियंत्रण से बाहर हो चुका है। मुख्यमंत्री का जिला तो अपराधियों का शरणस्थली बन चुका है। सामूहिक बलात्कार से लेकर हत्या सहित अन्य अपराधिक मामले में उनका जिला अव्वल स्थान पर है। परन्तु मुख्यमंत्री और उपमुख्यमंत्री सहित सत्ताधारी नेताओं का दो हीं काम रह गया है। पहला सीट शेयरिंग की सौदेबाजी करना और दूसरा राजद के राष्ट्रीय अध्यक्ष लालू प्रसाद के परिवार के बारे में अनर्गल बयानबाजी कर मीडिया को उलझाये रखना।