राजनीति करने के लिए पढ़ाई की जरूरत नहीं है : मांझी

348
0
SHARE

पटना – लोकसभा चुनाव से पहले बिहार की राजनीति गरमा गई है. सत्तापक्ष और विपक्ष एक दुसरे को घेरने में लगे हैं. इस दौरान हम पार्टी के मुखिया जीतनराम मांझी ने केंद्रीय मंत्री रामविलास पासवान पर पलटवार किया है. शनिवार को जीतन राम मांझी ने पासवान पर निशाना साधते हुए कहा कि के कामराज जी कहाँ तक पढ़ें थे. यह सब कोई जनता है राजनीति करने के लिए पढ़ाई की जरूरत नहीं है. आपको बता दें कि हाल में लोजपा अध्यक्ष रामविलास पासवान ने कहा था कि कोई भी अंगूठा छाप आदमी मुख्यमंत्री बन जाते हैं. इनका इशारा विपक्ष पर था.

पटना मे पत्रकारों से बात करते हुए जीतनराम मांझी ने कहा कि बहुत लोग ऐसे हैं जो पढ़े लिखे नहीं है पर राजनीति किए है. उन्होंने कहा कि के.कामराज कहाँ तक पढ़ें थे. राजनीति में भाग लेना और अंगूठा छाप होना दोनों अलग– अलग बात है. वहीं उन्होंने उत्तर प्रदेश की राजनीति पर कहा कि अखिलेश यादव और मायावती को कांग्रेस का ख्याल रखना चाहिए.

आपको बता दें कि शुक्रवार को रामविलास पासवान ने सवर्ण आरक्षण को देरी से उठाया गया सही कदम बताते हुए निजी क्षेत्र की नौकरियों में भी आरक्षण लागू करने करने की मांग की है. उन्होंने कहा कि प्राइवेट नौकरियों में भी आरक्षण लागू होना चाहिए.

प्रेस वार्ता में केंद्रीय मंत्री ने कहा कि हम गरीब सवर्णों के लिए 15 फीसदी आरक्षण मांग कर रहे थे. इसी दौरान उन्होंने कहा कि अंगूठा छाप आदमी राज्य के मुख्यमंत्री बन जाते हैं. उन्होंने निजी क्षेत्र की नौकरियों में भी आरक्षण लागू करने करने की मांग की है. रामविलास ने कहा कि प्राइवेट सेक्टर को सवर्ण आरक्षण को मिलाकर 60 फीसदी आरक्षण की जरूरत है.