राजनैतिक और शैक्षणिक जागरूकता सम्मेलन

143
0
SHARE

सुपौल– पिछले 28 वर्षों से कोशी की राजनीति के केंद्र रहे सुपौल के विधायक बिजेन्द्र प्रसाद यादव ने आज फिर साबित कर दिया कि वो राजनीति के मंझे हुये खिलाड़ी हैं।

दरअसल पिछले दिनों बिहार की राजनीति में बड़ा उलट-पुलट हुआ था, जहाँ जेडीयू पार्टी ने महागठबंधन से नाता तोड़कर NDA में शामिल होकर सूबे में सरकार चला रही है। उसके बाद कयास लगाये जाने लगे कि जेडीयू का एक बड़ा वोट बैंक पार्टी से खिसक जायेगा। लेकिन तमाम कयासों के बावजूद जेडीयू ने आज साबित कर दिया कि जेडीयू पार्टी “न्याय के साथ विकास” में विश्वास करती है।

मौका था शक्ति प्रदर्शन का, जहाँ त्रिवेणीगंज में हजारो की संख्या में अकिलयत समाज के लोगों ने “राजनीतिक एवं शैक्षणिक जागरुकता सम्मेलन” मे बढ़-चढ़ कर हिस्सा लिया। जिसका उद्घाटन सूबे के मंत्री विजेंद्र प्रसाद यादव ने फीता काटकर किया।

इस दौरान विधान परिषद कार्यकारी सभापति मो हारून रशीद, विधायक अणिरुद्ध प्रसाद यादव पूर्व विधायक दिलेश्वर कामत सहित विधान पार्षद तनवीर आलम खालिद अंसारी और जिले के तमाम अल्पसंख्यक समुदाय के नेता मौजूद थे। सम्मेलन का मुख्य उदेश्य अल्पसंख्यक समुदाय में शिक्षा के क्षेत्र में जागरूक करना इसके अलावे रजनैतिक रूप से भी जागरूक करना था। जबकि लोगों का मानना है कि आज का ये कार्यक्रम जेडीयू पार्टी का शक्ति प्रदर्शन था।