राज्य में व्याप्त शैक्षणिक अराजकता सहित अन्य समस्याओं को लेकर अ.भा.वि.प. करेगी छात्र सम्मेलन।

734
0
SHARE

नालन्दा-विक्रमशीला विश्वविद्यालय के गौरवशाली इतिहास को अपने दामन में संजोये बिहार के प्राथमिक से लेकर उच्च शिक्षा राज्य सरकार के उदासीनता के चलते आज बदहाली के गर्त में समाने को मजबूर है। प्रतियोगी परीक्षाओं में व्याप्त धांधली और भ्रष्टाचार ने आम छात्रों का जीवन अंधकारमय कर दिया है। शिक्षा और रोजगार के समुचित अवसर उपलब्ध नहीं होने के कारण युवा छात्र राज्य से पलायन को विवश हैं। राज्य में बढ़ती अपराधिक घटनाओं के कारण आम जनमानस भयाक्रांत हैं, भ्रष्टाचार चरम पर है। अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद् ने समय पर लोक हित एवं छात्र हित के मुद्दों पर छात्र युवाओं को संगठित कर प्रभावी आंदोलनों के माध्यम से निर्णायक जीत हासिल की है। उसी कड़ी में राज्य में गुणवत्तापूर्ण, सर्वसुलभ व रोजगारपरक शिक्षा, भ्रष्टाचार, अपराध पर रोक, रोजगार के अवसरों का सृजन, छात्र संघ चुनाव अविलम्ब कराने सहित कई अन्य प्रमुख मांगों को लेकर आगामी 10 फरवरी, 2017 (शुक्रवार) को भारतीय नृत्य कला मंदिर में छात्र सम्मेलन करने का निर्णय किया है। यह उपरोक्त बातें प्रान्त संगठन मंत्री निखिल रंजन ने कही।

इस एकदिवसीय कार्यक्रम के माध्यम से पटना में प्लेसमेंट सेल की व्यवस्था, जनसंख्या के अनुपात में नये चिकित्सा, अभियंत्रण, प्रबंधन व बहुप्रौद्योगिकी संस्थान खोलने, पटना में सभी अध्ययनरत छात्र-छात्राओं की सुरक्षा एवं आवश्यक सुविधाओं के लिए हेल्प लाईन व प्रशासनिक व्यवस्था सुनिश्चित करने, प्रतियोगी परीक्षाओं में व्याप्त धांधली एवं शिक्षा व्यवस्था को भ्रष्टाचार मुक्त करने, छात्र-छात्राओं के लिए रिंग बस सेवा बहाल करने, महाविद्यालयों-विश्वविद्यालयों में शिक्षकों एवं शिक्षकेत्तर कर्मचारियों की रिक्तियां शीघ्र भरने, कल्याण छात्रावासों, पुरुष एवं महिला छात्रवासों की सुविधाएं सुनिश्चित करने, सामान्य स्कूल शिक्षा प्रणाली अविलम्ब लागू कराने, सभी विश्वविद्यालयों में समान शैक्षणिक कैलेण्डर का प्रकाशन एवं क्रियान्वयन करने आदि कई महत्वपूर्ण मांगों को पूर्ण रूप से सरकार से पूरी करने की मांग की जाएगी।