रामगढ़ से बलिहार पहुंचा सीआरपीएफ जवान का शव

627
0
SHARE

बक्सर: झारखंड के रामगढ़ जिले में स्थित मां छिन्नमस्तिके मंदिर परिसर में मृत सीआरपीएफ जवान संजय नट का शव बीते बुधवार की देर रात उनके पैतृक गांव बलिहार पहुंचा।

जवान का शव पहुंचते ही मृतक के घर में कोहराम मच गया। इस कोलाहल से आसपास के घरों के लोग भी संजय नट के दरवाजे पर पहुंच गये। देखते ही देखते जवान के दरवाजे पर गांव वालों का हूजुम लग गया।

जवान के दरवाजे पर जुटा हर व्यक्ति यह जानने को इच्छुक था कि आखिर संजय के साथ अनहोनी कैसे हुई, लेकिन शव के साथ आये जवानों को भी यह पता नहीं था कि यह घटना कैसे घटित हुई।

बहरहाल, जवान कर अंतिम संस्कार पारंपरिक तरीके से किया गया। जवान के परिजन पूरी तरह से सदमे में हैं। पत्नी और बच्चों का रो-रोकर बुरा हाल है। पिता ह्दय नट को मानों काठ मार गया है। जवान की बूढ़ी मां भागमनी देवी बेसुध है।

बीते सोमवार की सुबह करीब आठ बजे झारखंड के छिन्नमस्तिके मंदिर में पूजा के दौरान संदिग्ध हाल में सीआरपीएफ जवान संजय नट की मौत हो गई थी। उनका गला कटा हुआ था। पुलिस की प्रारंभिक जांच में यह कहा गया था कि जवान ने खुद गला काट कर बलि चढ़ाई है लेकिन जवान के परिजनों ने इसे सिरे से खारिज करते हुए घटना के पीछे नक्सलियों का हाथ होना बताया है।

परिजनों की मांग है कि इस मामले की उच्च स्तरीय जांच कर कार्रवाई की जाए। घटना के बाद से ही परिजन झारखंड से शव आने का इंतजार कर रहे थे बीते बुधवार की रात करीब बारह बजे जवान का शव घर पहुंचा।