राहुल गांधी की ताजपोशी यह स्थापित हो गया कि नेहरू-गांधी परिवार के वर्चस्व तक सिमट गई कांग्रेस- सेतू

81
0
SHARE

पटना- बिहार प्रदेश युवा जनता दल (यू) के प्रदेश प्रवक्ता ओमप्रकाश सिंह सेतु ने कहा है कि कांग्रेस अध्यक्ष के रूप में राहुल गांधी की ताजपोशी हालांकि उनका आंतरिक मामला है फिर भी इससे यह स्थापित हो गया कि नेहरू-गांधी परिवार के वर्चस्व तक सिमट गई कांग्रेस देश में लोकतंत्र के लिए घातक परिवारवाद और वंशवाद की पोषक है। एक समय इंडिया इज इंदिरा, इंदिरा इज इंडिया का बयान देकर किसी कांग्रेसी नेता ने देश के जनमानस को दुखी किया था। आज राहुल गांधी की ताजपोशी करके कांग्रेस ने अपने को देश, जनता व लोकतंत्र से अलग करके नेहरू-गांधी परिवार की गोद में समेट लिया। भारत की सबसे पुरानी पार्टी का नेता विहीन होकर एक परिवार की मुट्ठी में सिमट जाने का यह वाकया कांग्रेस के लिए खुशी भरा हो सकता है, लोकतंत्र के लिए सही नहीं है।

युवा जदयू प्रवक्ता ने कहा कि परिवारवाद व वंशवाद लोकतंत्र के लिए हमेशा खतरा पैदा करते हैं। इनके कारण आम जनता के बीच से उभरने वाले नेतृत्व को दबा दिया जाता है और सारी राजनीति एक परिवार के इर्द-गिर्द सिमट जाती है। नीतीश कुमार के नेतृत्व में जनता दल (यूनाइटेड) ने हमेशा वंशवाद और परिवारवाद का विरोध किया व पार्टी के अंदर कभी इसे पनपने नहीं दिया। नीतीश जनता के बीच से उभरे करिश्माई नेता हैं जो केवल काम करने में विश्वास रखते हैं। कांग्रेस के पास सकारात्मक विपक्ष के रूप में काम करते हुए जन भावनाओं के अनुरूप विभिन्न स्तरों पर उभरने वाले नेतृत्व को प्रोत्साहित करने का विकल्प था। मगर उन्होंने खुद को नेहरू-गांधी परिवार के घेरे में ही रखने का चुनाव किया। यह उनका मामला है। देश का लोकतंत्र में विश्वास है लोगों की श्रद्धा जनता के बीच से उभरकर काम करने वाले नेताओं में है।