रेल बजट में जमालपुर कारखाना की उपेक्षा से लोगों में नाराजगी

597
0
SHARE

जमालपुर(प्रिंस दिलखुश): आम बजट में समाहित रेल बजट में जमालपुर कारखाना की उपेक्षा, रेलवे विश्वविद्यालय को ठन्डे बस्ते में डालने एवं संपूर्ण बिहार को घोर उपेक्षा से नाराज राजनीतिक एवं सामाजिक संगठनो की संयुक्त आवाज़, जमालपुर रेल निर्माण कारखाना संघर्ष मोर्चा ने रेलमंत्री एवं वित्तीयमंत्री का पुतला फूंक अपने आक्रोश का इजहार किया।

मोर्चा में शामिल विभिन्न दलों के नेता, मोर्चा के संयोजक सह समाजवादी पार्टी के जिलाध्यक्ष पप्पू यादव के नेतृत्व में स्थानीय मारवाड़ी धर्मशाला से जुलुस निकाल कर शहर के प्रमुख मार्गों का भ्रमण करते हुए रेलवे स्टेशन के मुख्य द्वार के पास पँहुच कर रेलमंत्री सुरेश प्रभु एवं वित्तीयमंत्री अरुण जेटली के पुतलो को आग के हवाले किया।

इस मौजे पर मोर्चा के संयोजक सह सपा जिलाध्यक्ष पप्पू यादव ने कहा कि आम बजट में समाहित रेल बजट में जमालपुर लौहनगरी की घोर उपेक्षा हुई हैं।वित्तीयमंत्री ने भाजपा शासित प्रदेश पर पूरी तरह न्योछाबर नज़र आए।वहीँ बिहार सरकार की पूरी तरह से उपेक्षा हुई है

उन्होंने कहा कि मोर्चा वर्षो से जमालपुर कारखाना को निर्माण कारखाना का दर्ज़ा एवं रेलवे विश्वविद्यालय की स्थापना सहित अन्य सवालो को लेकर संघर्ष करता रहा है।लेकिन एक बार भी बजट में केंद्र सरकार ने अधिनायक वाद होने का परिचय दिया है।

मौके पर उपस्तिथ माले के वरिष्ठ नेता अशोक सिंह एवं राजद के वरिष्ठ नेता गोरेलाल सिंह ने कहा कि मोदी सरकार ने इस बजट को पेश कर स्पष्ट संकेत दिया है कि उन्हें जनसरोकार से जुड़े सवाल से कोई मतलब नही है।यह बजट पूरी तरह आमजन विरोधी है।

कांग्रेस के पिछड़ा प्रकोष्ट तबके प्रदेश उपाध्यक्ष हरी प्रसाद महतो निषाद, रालोसपा के प्रदेश युवा महासचिव मुनिलाल मंडल ने इस बजट को पूरी तरह देश की आमजन के साथ धोखा बताते हुए कहा कि जमालपुर की एक बार फिर उपेक्षा हुई है।जिसको लेकर मोर्चा द्वारा आंदोलन तेज़ किया जाएगा।

प्रदर्शन में सीपीआई के अंचल सचिव मुरारी प्रसाद, सपा के नगरध्यक्ष राजकुमार शर्मा, वार्ड पार्षद अमरशक्ति, राजद के मो.मुख़्तार, मिडिया प्रभारी मनोज क्रांति, सपा के नगर उपाध्यक्ष डॉ.सुधीर गुप्ता, महासचिव पप्पू मंडल, सुशिल जलान, अमित कश्यप, सत्यजीत कुमार छोटू, मो.सदाब, दिलीप शर्मा, राहुल कुमार, आकाश कुमार दिपक, प्रभाकर राम, शैलेश पंडित, सदानंद, राजीव पटवा, गौरव यादव, बिच्छी साव, रंजीत पटवा, सीताराम पोद्दार, राजकुमार यादव, सुबोध तांती, महेश राम, बंटी वर्मा सहित अन्य उपस्तिथ थे।