रोहतास में खनन पदाधिकारी का दुर्भाग्यपूर्ण रवैया, नीति नीयत में अंतर होने से पुलिस थाने में जब्त ट्रैक्टर को दुबारा दिखाया जब्त

310
0
SHARE

दया नंद तिवारी

रोहतास – नीति नियत में अंतर होने से जनता को किस प्रकार पदाधिकारी परेशान करते हैं इसका जीता जागता प्रमाण रोहतास खंनन पदाधिकारी ने दिया है। डेहरी थाने में जब्त वाहन को अपने सूची में पुनः जब्त किया। ऐसी हरकत के बाद रोहतास पुलिस तथा खनन विभाग अपने ही करनामों में फंसते हुए नजर आ रही है, मामला हाईकोर्ट में है, देखना यह होगा कि हाईकोर्ट क्या एक्शन ले रही है।

बिहार में रोजगार की भारी किल्लत है जिससे आए दिन किसान आत्महत्या कर रहे हैं, ऐसे में हत्या करवाने में सरकार की कुछ पदाधिकारी तथा कर्मचारी भी पीछे नहीं रहते। ऐसा ही मामला बिहार के जिला मुख्यालय सासाराम में देखने को मिला। डेहरी थाने में जब्त किए गए ट्रैक्टर को खंनन अधिकारी ने दूसरे बार जब्त किया है और FIR कर दी है। ऐसे में पीड़ित काफी परेशान है, अधिकारियों के पास चक्कर लगा रहा है लेकिन न्याय नहीं मिल रहा है।

गौरतलब हो कि वाहन स्वामी रामजीत कुमार पुत्र केदार चौधरी के ट्रैक्टर बालू लोड के दौरान ओवरलोडिंग तथा कागजात में कमी से दिनांक 20 जून 019 को जब्त किया गया था लेकिन ट्रैक्टर स्वामी सुद पर पैसा लेकर ट्रैक्टर की खरीदारी की थी। वक्त पर पैसा ना होने से फाइन जमा नहीं कर पाया था, लेकिन 3 जुलाई 019 को जब वह फाईन की राशि खनन विभाग तथा परिवहन विभाग को जमा कर दी तो खनन विभाग ने ट्रैक्टर पर दुबारा एफआईआर का हवाला दे दिया। उसे पता चला कि उसकी ट्रैक्टर पर दोबारा एफआईआर कर जप्त कर लिया गया है।

रोहतास जिला भाजपा उपाध्यक्ष सत्येंद्र सिंह उर्फ भोला सिंह ने कहा कि पदाधिकारी सुशासन की सरकार को बदनाम तथा जनता को परेशान करने में लगी है।

पीड़ित रामजीत कुमार ने बताया कि पदाधिकारी बेवजह परेशान कर रहे हैं ऐसे में काफी परेशानी है।