लखीसराय की खबरें

315
0
SHARE

प्रशिक्षण प्राप्त युवा हो रहे अपने पैरों पर खड़ा – डीईओ

लखीसराय- शहर के कबैया रोड स्थित शिवम चित्र मंदिर के सभागार में कौशल युवा विकास कार्यक्रम के तहत सोमवार को कुशल युवा प्रोग्राम (केवाईपी) में शामिल विगत बर्ष सितम्बर माह एवं जुन माह की बैच के सफल प्रतिभागी छात्रों के सम्मान में सांस्कृतिक कार्यक्रम का आयोजन संस्था के किया गया। केवाईपी सेन्टर के प्राचार्य प्रिया नरेश कुमार ने आगत अतिथियों को पुष्पगुच्छ देकर स्वागत किया। कार्यक्रम का विधिवत उद्घाटन मुख्य अतिथि जिला शिक्षा पदाधिकारी सुनयना कुमारी एवं विशिष्ट अतिथि डीपीओ प्रेम रंजन ने संयुक्त रूप से दीप-प्रज्जवलित कर किया।

केवाईपी के प्रतिभागी छात्रों द्वारा स्वागत गान एवं एक से बढ़कर एक सांस्कृतिक गीत व नृत्य प्रस्तुत किया गया। कार्यक्रम के बीच में डीईओ सुनयना कुमारी, डीपीओ प्रेमरंजन, एवं सेन्टर निदेशक नरेश कुमार ने संयुक्त रूप से कुशल युवा कार्यक्रम की परीक्षा में बेहतर रिजल्ट वाले 4 सफल प्रशिक्षणार्थियों को प्रमाणपत्र, मेडल एवं ट्रॉफी देकर सम्मानित किया।  

इस कार्यक्रम में डीईओ सुनयना कुमारी ने उपस्थित प्रशिक्षणार्थियों को संबोधित करते हुए कहा कि केवाईपी एक ऐसा माध्यम है जिससे कंप्यूटर के उपयोग के साथ व्यक्तित्व विकास और साक्षात्कार के टिप्स प्राप्त कर सकते हैं। मुख्यमंत्री स्वयं सहायता योजना युवाओं के लिए काफी लाभप्रद साबित हो रहा है। उन्होंने कहा कि आर्थिक हल युवाओं को बल सात निश्चय के तहत संचालित होनेवाली योजना का क्रियान्वयन रोजगार परामर्श केन्द्र के माध्यम से किया जायेगा। केन्द्र में युवाओं को हिन्दी, अंग्रेजी भाषा, संवाद कौशल, बुनियादी कम्प्यूटर ज्ञान व अन्य कौशल प्रदान कर उन्हें रोजगार प्राप्त करने के लायक बनाया जायेगा।

इस मौके पर मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने घोषणा की कि कुशल युवा कार्यक्रम के तहत प्रशिक्षण प्राप्त करने के बाद युवाओं को राज्य सरकार टैबलेट देगी। इस योजना को अंतिम रूप दिया जा रहा है। प्रशिक्षण प्राप्त युवा अपने पैरों पर खड़ा हो रहे है। उन्हे अब किसी पर आश्रित रहने की आवश्यकता नहीं पड़ेगी। इस मौके पर नरेश कुमार, प्रिया कुमार, पूर्व नगर परिषद सभापति सीमा देवी, जितेन्द्र कुमार, शिल्पी कुमारी, सुरज कुमार सहित अन्य सैकड़ों छात्र-छात्राएं मौजूद थे। 

 ग्रामीण डाक सेवकों ने मुख्य डाकघर में की तालाबंदी

लखीसराय- शहर के मुख्य डाकघर में ग्रामीण डाक सेवकों की हड़ताल के सातवें दिन सोमवार को मुख्य डाकघर के गेट पर ग्रामीण डाक सेवकों ने तालाबंदी करते हुए केन्द्र सरकार के खिलाफ जमकर नारेबाजी की। डाकघर में आनेवाले उपभोक्ता दिनभर परेशान रहे। पहले ग्रामीण डाकघर कामकाज ठप्प रहा और अब सोमवार से हड़ताली कर्मचारियों के द्वारा शहरी क्षेत्रों के कामकाज बाधित कर दिया गया। हड़ताल से शहरी क्षेत्रो एवं गांवों में पार्सल, मनी आर्डर, स्पीड पोस्ट, इंटरव्यू लेटर, ज्वाइंनिग लेटर, ईएमओ, चेकबुक की डिलेवरी ठप्प हो गई है। 

आंदोलनकारी कर्मचारियों ने मुख्य डाकघर, पुराना बाजार पोस्ट ऑफिस को ताला लगाकर बंद कराने का प्रयास किया। मुख्य डाकघर के मुख्य गेट पर धरना दिया। हड़ताल के कारण हजारों पत्र व पार्सल जगह-जगह फंसे हैं। लेन-देन भी प्रभावित है। मुख्य डाकघर के मुख्य गेट पर हड़ताली कर्मचारियों ने जमकर नारेबाजी की। 

केस संख्या-1- नया बाजार लखीसराय वार्ड 27 के रहने वाले नंदकिशोर चौधरी ने बताया कि हड़ताल के कारण डाकघर में कर्मचारियों की कमी है। दो दिनों से अपने जमीन की कागजात रजिस्ट्री के माध्यम से बाहर भेजना था। 

केस संख्या-2- शहर के वार्ड न0 23 के रहने वाले जयप्रकाश कानोडिया ने कहा कि डाकघर में खाता अपडेट कराने एवं इन्कम टैक्स रिटर्न फाइल करने के लिए वितीय वर्ष का स्टेटमेंट के लिए कई दिनों से दौड़ लगा रहा हॅु। काम नहीं हो पा रहा है।

केस संख्या-3- कपोश कुमार ने कहा कि ग्रामीण डाक सेवकों ने तालाबंदी कर देने से अभिकर्ताओं द्वारा डेली जमा योजना से आने वाली रकम जमा नहीं हो सका। दर्जनो डाक अभिकर्ता आज बैरंग बापस लौट गए। 

केस संख्या- 4- सूर्यगढ़ा प्रखंड के अमरपुर गांव से चलकर पहुंची मणीमाला देवी ने कहा कि गांव के डाकघर बंद रहने के कारण परेशान था। तीन दिन से शहर के मुख्य डाकघर का दौड़ लगा रही हुँ। बेटा का नौकरी बाहर लगा है उसका पासपोर्ट बनाने के लिए परेशान हॅुं। यहां कोई स्टाॅप नहीं है। 

जिले के लगभग सभी ग्रामीण डाकघरों में ताला लटका है। अपने पार्सल की जानकारी के लिए ग्रामीण शाखा डाकघर से लेकर उप डाक घर तक लोग चक्कर लगा रहे है। ग्रामीण डाक सेवक संघ के बैनर तले जिले डाक कर्मचारी सातवें वेतनमान और कमलेश चन्द्र कमेटी की रिपोर्ट को लागू करने के लिए अनिश्चितकालिन हड़ताल पर है। हड़ताल के सातवें दिन सोमवार को डाककर्मी घुमते नजर आए। 

डाक सेवकों के नेता वीरेन्द्र सिंह ने बताया कि समिति ने सरकार को गत बर्ष 24 नवंबर को रिपोर्ट सौंप दी थी। सरकार इसे लागू नहीं कर रही है। केंद्र सरकार कमलेश चंद्रा कमेटी की सिफारिशों को लागू करने में लगातार आनाकानी कर ही है। जबतक कमेटी की सिफारिशों को लागू नहीं किया जाएगा, उनका संघर्ष जारी रहेगा। केंद्र सरकार कर्मचारी विरोधी नीतियों पर अड़ी हुई है। चेताया कि यदि उनकी मांगों पर कार्रवाई नहीं हुई तो डाक सेवा पूरी तरह बाधित की जाएगी। 

बोले डाक अधिक्षक

मुख्य डाक घर के डाक अधिक्षक नीरज कुमार चौधरी ने बताया कि  ग्रामीण डाक सेवक अनिश्चितकालीन हड़ताल से ग्रामीण डाक सेवा प्रभावित हो गया है। केन्द्रसरकार द्वारा शीघ्र इस मुद्दे पर विचार हो रही है। 

पारिवारिक कलह में पत्नी और तीन बच्चों की हत्या करने के बाद फांसी के फंदे पर झूल गया पति

लखीसराय- जिले के सूर्यगढ़ा पुलिस अंचल के माणिकपुर थाना क्षेत्र के कवादपुर लक्ष्मीपुर गांव में रविवार की देर रात पारिवारिक कलह में पत्नी और तीन मासूमों की हत्या करने के बाद पति फांसी के फंदे पर झूल गया। घटना की जानकारी के बाद मौके पर पहुंची पुलिस ने शव को कब्जे में कर पोस्टमार्टम के लिए सदर अस्पताल भेजा है। घटना के बाद से गांव में मातम छाया हुआ है।

सोमवार की सुबह एक ही परिवार के पति-पत्नी व तीन मासूमों का घर में शव मिलने से गांव में सनसनी फैल गई। सभी शवों के गले में रस्सी का दाग पाया गया। आशंका व्यक्त कि जा रहा है कि पारिवारिक कलह में पति पंकज कुमार पत्नी अर्चना देवी व तीनो बच्चों की हत्या करने के बाद खुद भी फांसी लगाकर आत्महत्या कर ली। मृतक बच्चों में 6 वर्षीया प्रियांशु कुमारी, 4 वर्षीय प्रियांश कुमार एवं 2 वर्षीय विक्की शामिल है।

इनका शव घर के एक कमरे में बिछावन पर पड़ा मिला। वहीं पत्नी अर्चना का शव घर के बाहर पानी के सोखता टंकी में गिरा मिला। मृतक के परिजनों ने बताया कि पंकज कुमार हरियाणा के रोहतक में मार्बल पत्थर लगाने के काम में मजदूरी करता था। परिवार के अन्य सदस्य गांव में रहते थे। पंकज कुछ दिन पूर्व ही गांव वापस लौटा था। मृतक की मां ने घटना के बारे में बताया कि पति-पत्नी के बीच कलह चल रहा था। दोनो के बीच हमेशा झगड़ा होते रहता था।

रविवार की रात दूसरे बेटे के पास सोने चली गई थी। सुबह में घटना की जानकारी हुई। पति-पत्नी के बीच छह माह पूर्व भी विवाद हुआ था और पत्नी की हत्या का प्रयास किया था। घटना की रात पंकज ने पूरे परिवार के साथ मछली चावल खाया था। घटना की सूचना पर एसडीपीओ मनीष कुमार, पुलिस इंस्पेक्टर नीरज कुमार, सूर्यगढ़ा थानाध्यक्ष राजेश रंजन एवं संबंधित थाना की पुलिस घटना स्थल पर पहुंच कर मामले की छानबीन किया।

एसडीपीआे मनीष कुमार ने बताया कि घटना के संबंध में मृतक के परिजन के बयान पर माणिकपुर थाना में हत्या का मामला दर्ज कराया जा रहा है। इस मामले में बताया गया है कि मृतक ने अपनी पत्नी और बच्चे की हत्या करने के बाद फांसी लगाकर आत्महत्या की है। पुलिस मामले की गहराई के साथ जांच कर रही है।