लालू यादव नम्बरी हैं तो बेटा दस नम्बरी बनने को तैयार – संजय सिंह

217
0
SHARE

पटना- जेडी(यू) मुख्य प्रवक्ता और विधान पार्षद संजय सिंह ने कहा है कि

जो खोटे सिक्के कभी चले ही नहीं बाजार में , आज कमियाँ ढूँढ रहे है हमारे किरदार में

हकमार यादव ना तो बिहार के बाजार में चले है और ना ही देश के बाजार में चलेंगे। नीतीश कुमार तो एवरग्रीन नेता है जो हर जगह, हर तबके के लिये और हर वक्त चलते है। हकमार यादव, पिता की दौलत पर क्या घमंड करना, मज़ा तो तब है जब दौलत अपनी हो और घमंड पिता करे। लेकिन यहाँ तो उलटा है। पिता के फसल को बेटो ने दोनों हाथ से काटा है। लेकिन पिता लालू यादव ने भी पाप का फसल बोया था। जिसका असर ये है कि पूरा परिवार अब सीबीआई, ईडी और आईटी का चक्कर लगा रहा है और उम्मीद ये है कि उससे राहत नहीं मिलने वाली है।

फर्क बहुत है तेरी और मेरी तालीम में, तूने उस्तादों से सीखा है और मैंने हालातो से। हकमार यादव ने ये स्वीकार किया है कि उनके राजनैतिक गुरु लालू यादव है यानी उनके उस्ताद लालू यादव रहे है। लालू यादव ने अपने राजनीतिक जीवन में सिर्फ घोटाला, गबन , धोखा किया है। अब वही शिक्षा लालू यादव ने अपने बच्चों को दी है । यानी लालू यादव नम्बरी है तो बेटा दस नम्बरी बनने को तैयार है।

नीतीश कुमार की एक खासियत रही है कि वो कभी सिद्धांत से समझौता नही करते है। आरजेडी में जिस तरह से तेजस्वी यादव के अवतार की पूजा शुरु हो गई है, उसे कभी स्वीकारा नही जा सकता है। आपकी फितरत होगी कि आप सत्ता के लिए किसी के गोड पर गिर जाए , लेकिन नीतीश कुमार अपने वसुलों से कभी समझौता नही कर सकते है। जीतन राम मांझी अब हकमार यादव के ‘पिता तुल्य’ हो गए है । जाहिर है अब हकमार यादव सर्वगुण सम्पन्न हो गए है। अब उनके पास सजायाफ्ता लालू यादव, शहाबुद्दीन, राजबल्लभ यादव और अब गद्दारी के प्रतीक जीतनराम मांझी भी उनके साथ है।