लालू होते तो मोहन भागवत के मूंछ में दम नहीं था कि बिहार में आकर जहर फैलाय- शक्ति सिंह

133
0
SHARE

पटना- आरएसएस प्रमुख मोहन भागवत इन दिनों बिहार की यात्रा पर रह कर गंगा जमुनी एकता को खंडित करने की नापाक कोशिश कर रहे हैं। मुझे यह कहना कि चीनी सेना के डर से भारत की सेना सीमा से हट गई और स्वयंसेवक डटे रहे ये बयान सेना के मनोबल को तोड़ने वाला है, आज बिहार के लोग लालू को याद कर रहे हैं, अगर लालू होते तो मोहन भागवत के मूंछ में दम नहीं था कि बिहार में जहर फैलाते तोगड़िया की तरह बैरंग बिहार से वापस कर दिया जाता पर नीतीश कुमार संरक्षण देकर बिहार में जहर फैला रहे हैं पर ये भूल जाते की बिहार बुद्ध और जेपी की भूमि हैं। यहां दाल गलने वाला नहीं है।

नीतीश कुमार ने आखिरकार सच उगल दिया डेढ़ साल गठबंधन की आयु बताकर तेजस्वी पहले ही कह चुके हैं हम तो बहाना हैं नीतीश को बीजेपी में जाना है पुष्ट हुई तेजस्वी की बात। अगर जाना ही था नीतीश तो लालू के साथ क्यों आये। बिहार की जनता के सामने आज स्पष्ट हो गया कि नीतीश कुर्सी के लिए किसी के पास जा सकते है। नीतीश बौखलाहट में हर सच उगलकर दम लगे आने वाले दिन में यह भी बतायेगे की किस घोटाले में फंसने के चलते भाजपा से हाथ मिलाये।