विकासशील इंसान पार्टी निषाद समाज के लिए संघर्ष करेगी

557
0
SHARE

पटना – विकासशील इंसान पार्टी (वीआईपी) आगामी 26 जनवरी से 26 फ़रवरी तक राज्य के 20 लोकसभा क्षेत्रों में ‘शक्ति प्रदर्शन रैली’ करेगी। ये जानकारी आज विकासशील इंसान पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष सन ऑफ़ मल्लाह श्री मुकेश सहनी ने पटना के होटल मौर्या में पत्रकारों से बातचीत के दौरान दी। उन्‍होंने कहा कि 4 नवंबर की महारैली में हमने अपनी ताकत दिखा दी है। अब हमें बिहार की राजनीती में कोई अनदेखा नहीं कर सकेगा। पटना के गाँधी मैदान में हमारी महारैला में आए 5 लाख लोगों ने बता दिया है कि वे किसके साथ हैं। हमने अपने मुद्दों को सबके सामने रख दिया है। जो इन मुद्दों पर काम करेगा हमारी पार्टी उनका समर्थन करने पर विचार करेगी। फ़िलहाल हमारी तैयारी 2019 के चुनाव में सभी 40 सीटों पर उम्मीदवार उतारने की है।

सन ऑफ़ मल्लाह ने कहा कि 14% वोट बैंक के साथ निषाद समाज 2019 के चुनाव में प्रदेश के राजनीति की दिशा-दशा तय करेगी। वीआईपी को जनता की पार्टी बताते हुए उन्होंने कहा कहा कि पार्टी निषाद आरक्षण सहित समाज के सारे हक़-अधिकार दिलाने के लिए पर्याप्त राजनीतिक भागीदारी सुनिश्चित करेगी।

गठबंधन के सवाल पर उन्होंने कहा कि समय आने पर पार्टी के सभी पदाधिकारियों के परामर्श तथा सलाह-मशविरा के बाद की आगामी चुनाव में गठबंधन पर विचार किया जाएगा। उन्होंने कहा कि लोकतंत्र में जिसके पास संख्या बल है, वही वीआईपी है। और 14% वोट के साथ बिहार की राजनीती में हमारा वर्चस्व है इसलिए पार्टी का नाम वीआईपी रखा गया है। उन्होंने कहा कि अभी हमारा ध्यान पार्टी के संगठन पर है तथा अगले 2 महीनों में पंचायत स्तर तक कमिटियों का गठन कर लिया जाएगा।

सन ऑफ़ मल्लाह ने कहा कि अपनी पार्टी बनाकर हमने अपना एजेंडा साफ़ कर दिया है। अपनी पार्टी के बैनर तले हम अपनी समाज की तरक्की तथा बेहतरी के लिए काम करेंगे। उन्होंने कहा कि निषाद समाज को SC/ST में शामिल करवाना हमारा प्रमुख उद्देश्य है तथा इसके लिए दिल्ली तक लड़ाई लड़ेंगे। उन्होंने राष्ट्रीय मतस्यजिवी आयोग के अविलंब गठन की मांग करते हुए मछुआरों की तरक्की के लिए उचित अनुदान उपलब्ध करवाने की मांग की। समाज के सर्वांगीन विकास तथा युवाओं के उज्जवल भविष्य के लिए निषाद समाज के छात्र-छात्राओं के लिए निःशुल्क उच्च शिक्षा की व्यवस्था की जाए। साथ ही सूखाग्रस्त जलकरों का जीर्णोद्धार कर किसान क्रेडिट कार्ड की तर्ज पर मतस्य क्रेडिट कार्ड जारी किया जाए।

उन्होंने राज्य सरकार का ध्यान आकृष्ट करवाते हुए कहा कि मछली उत्पादन की असीम संभावना होने के बावजूद भी बिहार 700 करोड़ की मछली दुसरे राज्यों से आयत करता है। अगर सरकार मछुआरों टटका मछलीपालन पर ध्यान दे तो हम करोड़ों रुपयों की मछली बिहार से निर्यात कर सकते हैं। इसमें मछुआरों तथा सैकार दोनों का फायदा है।

विकासशील इन्सान पार्टी के एजेंडे में निषाद समाज की सभी उपजातियों को अनुसूचित जाति /अनुसूचित जनजाति में अविलम्ब शामिल करने की मांग प्रमुख है। इसके अलावा राष्ट्रीय मछुआरा आयोग का गठन करने तथा सरकारी/गैर सरकारी बैंकों से सभी तरह के बैंक ) अनुदान पर उपलब्ध कराए जाने की मांग भी प्रमुखता से शामिल है। साथ ही पार्टी विशेष अवसर ,वं प्राथमिकता के आधार पर सरकारी/गैर सरकारी शिक्षण संस्थानों में सभी तरह की उच्च शिक्षा निःशुल्क प्रदान करने तथा निषाद समाज पर अत्याचार, शोषण, हत्या ,वं चोरी से मत्स्य शिकारमाही करने वाले को सबसे पहले जेल भेजने का प्रावधान भी चाहती है।

इसके आलावा सामान्य प्रशासन विभाग बिहार सरकार के अत्यन्त पिछड़ा वर्ग की सूची में उल्लेखित निषाद समाज की उपजाति, क्र0सं0-7- केवट (कउट), 11- कैवर्त 21- गोढ़ी, 22- गंगई (गणेश) 23- गंगोता 28- चांय 36- तीयर 42- नोनिया 52- बेलदार 53- बिन्द 64- मल्लाह 67, मोरियारी 73- वनपर 95- अमात को निषाद में समावेशित करने तथा मत्स्यजीवी सहयोग समितियों के जलकरों का सीमांकनोपरांत जीर्णोद्धार, अतिक्रमण मुक्त ,वं घेराबंदी, सूखाग्रस्त जलकरों का राजस्व माफ निःशुल्क नाव ,वं जाल, गैर मछुआरों का निष्कासन सदस्यता ऑनलाइन, सर्वसुविधसंपन्न कार्यालय, मत्स्य किसान क्रेडिट कार्ड, हर तालाब में पानी बिहार मत्स्य जलकर प्रबंध्न नियमावली, मत्स्य जलकर प्रबंध/संसोधन, अन्य विभागीय जलकरों को मत्स्य विभाग में हस्तांतरण ,वं परम्पराग त मछुआरों की सूची जारी करने की मांग भी शामिल है।

संघ द्वारा पारित प्रस्ताव में जिला स्तर पर शीतगृह सर्वसुविधसंपन्न मत्स्य (पिश) मार्केट का निर्माण ,वं मत्स्य व्यवसाय को मत्स्य उद्योग के रूप में विकसित करने, मत्स्य विभाग में आई0,0,स0 मत्स्य निदेशक को नियुक्त करने, मत्स्य विभाग का बजट जलक्षेत्र ,वं जनसंख्या के अनुपात में बढ़ाने तथा मात्स्यिकी शैक्षणिक योग्यता प्राप्त चयनित/अनुशंसित निषाद समाज के अभ्यर्थियों को कृषि समन्वयक के पद पर नियुक्त जाने की मांग पार्टी के एजेंडे में शामिल है।

संवाददाता सम्मलेन में छोटे सहनी, गौतम बिंद, बैद्यनाथ सहनी, ब्रह्मदेव चौधरी, लालबाबू सहनी, दिनेश बिंद, भोगेन्द्र सहनी तथा विशाल सहनी सहित कई पदाधिकारी उपस्थित रहे।