विदेश यात्रा से पटना वापस लौटने पर हवाई अड्डे पर कृषि मंत्री का भव्य स्वागत

110
0
SHARE

पटना- विभागीय उच्च स्तरीय प्रतिनिधि मंडल के साथ विदेश यात्रा से लौटने पर आज पटना हवाई अड्डे पर मंत्री, कृषि विभाग, बिहार डाॅ॰ प्रेम कुमार का राज्य के किसानों एवं उनके समर्थकों द्वारा भव्य स्वागत किया गया। मंत्री के स्वागत के लिए पटना हवाई अड्डे पर हजारों की संख्या में राज्य के किसान एवं समर्थक काफी देर से जुटे थे। मंत्री के हवाई अड्डे से बाहर निकलते ही उन्हे फूल मालाओं से लाद दिया गया।

पटना हवाई अड्डे पर मंत्री ने कहा कि राज्य में भारी मात्रा में केले की खेती की जाती है तथा विगत कई वर्षो से पनामा बिल्ट नामक बीमारी से केले की फसल को काफी नुकसान हो रहा है। अभी तक पनामा बिल्ट के समाधान हेतु कोई कारगर उपाय नहीं निकल पाया है, जबकि बेल्जियम के वैज्ञानिकों ने काफी अनुसंधान किया है तथा इस गंभीर बीमारी के समाधान में उन्हें काफी हद तक सफलता मिली है।

इसी उद्देश्य से मेरे नेतृत्व में कृषि विभाग के वरीय पदाधिकारियों एवं कृषि वैज्ञानिकों का एक प्रतिनिधिमंडल बेल्जियम, फ्रांस एवं इटली की यात्रा पर गया था। इन तीनों देशों में बायोभरसिटी इन्टरनेशनल विश्वविद्यालय के द्वारा केला सहित अन्य सब्जियों एवं फलों पर लगने वाले बीमारियों के समाधान के लिए किये गये अनुसंधानों को नजदीक से देखा गया तथा वैज्ञानिकों से विस्तार से इस पर चर्चा की गई। बायोभरसिटी इन्टरनेशनल को CGIAR (Consultative Group of International Agricultural Research) जो की एक UNO की संस्था है, के द्वारा 1971 में ही मान्यता प्रदान की गई है और यह विश्व प्रसिद्ध संस्था है।

यात्रा के क्रम में पनामा बिल्ट के अतिरिक्त अन्य मुद्दों पर भी विचार विमर्श किया गया, जिसमें सीड बैंक की स्थापना कंद (ज्नइमत) फसलों की खेती, चावल के विभिन्न प्राचीन प्रभेदों की खेती, कटहल एवं जैतून की खेती पर भी आपसी सहयोग एवं अनुसंधान के अदान-प्रदान पर सहमति बनी है। शीघ्र ही संबंधित देषों के वैज्ञानिक बिहार का दौरा करेंगे एवं केला में लगने वाले पनामा बिल्ट के रोक-थाम सहित कृषि के अन्य क्षेत्रों में विकास के लिए सहयोग प्रदान करेंगे। मंत्री ने कहा कि यह यात्रा काफी सफल रही है एवं आने वाले समय में बिहार में कृषि के क्षेत्र में एक नया आयाम देखने को मिलेगा। किसानों का कृषिगत लागत मूल्य में कमी आयेगी तथा उनकी आमदनी में आषातीत बढोत्तरी होगी। प्रतिनिधि मंडल में मंत्री के अतिरिक्ति सुनिल कुमार सिंह, कृषि उत्पादन आयुक्त बिहार, अरविन्दर सिंह, निदेशक उद्यान एवं डाॅ॰ अमरेन्द्र कुमार, कृषि वैज्ञानिक, बिहार कृषि विश्वविद्यालय, सबौर, सम्मिलित थे।