विश्वप्रसिद्ध केसरिया महोत्सव का मुख्य आकर्षण होगी मधुरेंद्र की रेत कलाकृति

92
0
SHARE

घोड़ासहन: 28 अप्रैल से शुरु हो रहे तीन दिवसीय केसरिया महोत्सव में बिहार के विश्वविख्यात सैंड आर्टिस्ट मधुरेन्द्र अपनी कला का जौहर बिखेरेंगे। इसके लिए पूर्वी चम्पारण के जिलाधिकारी रमण कुमार ने सैंड आर्ट के प्रदर्शनी के लिए अनुमति दे दी है। मधुरेन्द्र ने बताया कि समारोह का उद्घाटन शाम 5 बजे होने की संभावना है। इसकी पुष्टि करते एसडीओ चित्रगुप्त कुमार ने बताया कि कार्यक्रम स्थल पर बने मुख्य पंडाल के बगल में पूर्वी चम्पारण जिले के घोड़ासहन बनकटवा प्रखंड अंर्तगत बीजबनी गांव निवासी सैंड आर्टिस्ट मधुरेन्द्र को आमंत्रित किया गया है।

इनकी कलाकृति के लिए 30/20 का जगह एवं रंग, अबीर तथा बालू की व्यवस्था करा दी गई है। बालू पर उकेरी जाने वाली कलाकृति विश्व के धरोहर में प्रसिद्ध केसरिया स्तूप और भगवान बुद्ध पर आधारित होगी। यह कलाकृति देश-विदेश तथा कई प्रदेशों से आने वाली सैलानियों के लिए बनायी जा रही हैं।

बता दें कि हाल ही में गोपालगंज जिले के थावे महोत्सव बेहतरीन कला प्रदर्शन कर बिहार के पर्यटन मंत्री सहित कई वरीय पदाधिकारियों व आम नागरिकों को भी मंत्रमुग्ध कर दिया था। गौरतलब हो कि सैंड आर्टिस्ट मधुरेन्द्र अपनी कला के बदौलत राज्य के हर बड़े समारोह से लेकर विदेशों में भी अपनी पहचान स्थापित कर देश का नाम अंतरराष्ट्रीय फलक पर रौशन किया है।