वैश्य समाज अपने अधिकार के लिए सड़क पर उतर कर करेंगे संघर्ष – अन्तर्राष्ट्रीय वैश्य महासम्मेलन

146
0
SHARE

पटना – अन्तर्राष्ट्रीय वैश्य महासम्मेलन, बिहार इकाई द्वारा आयोजित होने वाले भामाशाह जयंती समारोह के पूर्व दिवस पर पटना में आयोजित ‘वैश्यों की राजनीतिक भूमिका’ पर परिचर्चा के दौरान वैश्य समाज को उनकी आबादी के अनुसार राजनीतिक भागीदारी देने की बात जोर-शोर से उठायी गयी। इस दौरान महासम्मेलन के अध्यक्ष प्रोo डॉo जगन्नाथ गुप्ता ने साफ शब्दों में सरकार और राजनीतिक दलों को आगाह किया और कहा कि अगर वैश्य समाज को राजनीति में उनकी आबादी के अनुसार भागीदारी नहीं मिली, तो वैश्य समाज अपने अधिकार के लिए सड़क पर उतर कर संघर्ष करेंगी और अपना हक लेकर रहेगी।

उन्होंने कहा कि आज प्रदेश में वैश्यों की आबादी 27 परसेंट है। बावजूद इसके हमें हाशिये पर धकेल दिया गया है। आज नेता और राजनीतिक पार्टियां वैश्य समाज को मान सम्मान और अधिकार देने को तैयार नहीं है। मगर अब वैश्य समाज जग चुका है। संगठित हो चुका है और चट्टानी एकता के साथ 27 परसेंट की आबादी वाला वैश्य समाज सड़कों पर भी अपने अधिकार के लिए उतरेगा। यही वजह है कि अपनी शक्ति को दिखाने के लिए बिहार के 38 जिलों, 534 प्रखण्डों और 122 अनुमंडलों से वैश्य समाज के लोग पटना पहुँच रहे हैं।

वहीँ वैश्य समाज के वरिष्ठ नेता राजा चौधरी को अंतर्राष्ट्रीय वैश्य महासम्मेलन में वरिष्ठ संगठन मंत्री सह वरिष्ठ प्रवक्ता मनोनीत किया गया है वैश्य समाज के मनीष गुप्ता (गुड़ु जी) को मीडिया प्रभारी मानोनित किया गया है मंच पर उपस्थित लोगो मे कमल नोपानी, शिव गुप्ता, राजेश्वर प्रसाद , महिला अध्यक्ष सीमा सुजानी,अनुपमा जी, अशोक गुप्ता,सुन्न्दनी, अनुपमा, डा विद्यार्थि विकाश निर्मला जायसवाल ,प्रमोद गुप्ता ,इन्द्रपित प्रधान ,अलोकशाह, कुमार आजाद, श्यामबिहारी ,नागेन्द्र प्रसाद, सौरभ भगत प्रदीप केशरी म्रेश माथुर आदि लोग भी उपस्थित रहे|