व्यवसायी से लूट पाट

298
0
SHARE

दिलीप कुमार

मोहनिया/नगर – थाना क्षेत्र के स्टेशन के दक्षिणी दिशा में डड़वा जाने वाले रास्ते में मंगलवार की देर रात एक व्यवसाई से अज्ञात अपराधियों ने मारपीट की घटना को अंजाम दिया और लूटपाट भी की। लूटपाट की घटना इस जगह पर कोई नई बात नहीं है भभुआ रोड स्टेशन के दक्षिणी तरफ से उतर कर रात को अगर आप डड़वा की तरफ जा रहे हैं तो थोड़ी सावधानी बरतें नहीं तो अंधेरे का फायदा उठाकर आपके साथ भी अपराधी लूटपाट की घटना को अंजाम दे सकते हैं।

प्राप्त जानकारी के अनुसार राकेश कुमार गुप्ता पिता राधे श्याम प्रसाद वार्ड नंबर 4 डड़वा निवासी ने बताया कि दिल्ली से 19 तारीख मंगलवार की देर रात गरीब रथ एक्सप्रेस से भभुआ रोड स्टेशन उतरा और अपने घर जाने के लिए बस स्टेशन के दक्षिणी पूर्वी रोड होते हुए घर जाने के लिए जैसे ही आगे बढ़ा तभी एक बाइक पर सवार दो लोग तेजी से आगे बढ़ें बीच रास्ते में जाने समय एक जगह पर लाइट की व्यवस्था ना होने के कारण काफी सुनसान है जैसे ही वहां पहुंचा, पहले से 2 लोग खड़े थे। उन्होंने मुझे रुकने के लिए कहा लेकिन मुझे शक होने के कारण मैं भागने लगा तभी बाइक सवार 2 लोगों ने पीछे से मेरा बैग पकड़ मुझे जमीन पर पटक दिया और चारों अनजान व्यक्ति मिलकर मुझे मारने पीटने लगे। मैं उठ कर भागने का भी प्रयास किया लेकिन उन्होंने हथियार का भय दिखाते हुए कहा कि बैग छोड़ो नहीं तो गोली मार देंगे जिसके बाद उनकी पिटाई से मैं पस्त हो गया इसके बाद उन्होंने मेरा पर्स घड़ी और बैग लेकर एक ही बाइक पर चारों बैठकर भाग गए जिसके बाद मैं किसी तरह खड़ा होकर वहां से तेजी से भागते हुए जीआरपी के पास पहुंचा और वहां जाकर मैंने चार अज्ञात लोगों के खिलाफ आवेदन दिया। साथ ही इस मामले में मोहनिया थाने में आवेदन दे दिया है।

पहले भी इस जगह पर हो चुकी है लूट-पाट की घटना
भभुआ रोड स्टेशन के दक्षिणी पश्चिमी रोड में लूटपाट की यह कोई पहली घटना नहीं है इससे पहले भी इससे पहले भी इस जगह पर लूटपाट के साथ हत्या की घटना को अपराधी अंजाम दे चुके हैं। गौरतलब हो कि विगत वर्ष भभुआ रोड उतर कर इसी रास्ते से जाने के क्रम में पशु व्यवसाइयों से मारपीट और लूटपाट की घटना को अंजाम दिया गया और जब व्यवसाइयों ने इसका विरोध किया तो अपराधियों ने एक व्यवसाई की गोलीमार हत्या कर दी थी। इस मामले में पुलिस ने कड़ी कार्रवाई करते हुए इस मामले में कुछ लोगों को गिरफ्तार कर जेल भी भेजा था जिसके बाद कुछ समय के लिए इस जगह पर लूटपाट की घटना नगण्य हो गई थी लेकिन एक बार फिर से जगह पर अपराधी सक्रिय होते दिख रहे हैं। इसका कारण या तो पुलिसकर्मियों की गश्ती ना होना या फिर जीआरपी और आरपीएफ की सुस्ती कही जाए। क्योंकि यह घटना जहां घटी वहां से भभुआ रोड स्टेशन की दूरी 100 से 200 मीटर मात्र है फिर भी अपराधियों के द्वारा लूटपाट की घटनाओं को अंजाम देना कहीं ना कहीं इनका मनोबल बड़ा हुआ प्रतीत होता है।

क्यों होती है यहां लूट पाट की घटनाएं

गौरतलब हो कि भभुआ रोड स्टेशन के दक्षिणी पश्चिमी रोड में ऐसे कई जगह है जहां लाइट की व्यवस्था ना होने के कारण रात्रि के समय अंधेरा और सुनसान हो जाता है जिसका नतीजा आम जनों और इस रास्ते से गुजरने वाले यात्रियों को भुगतना पड़ता है इस जगह पर कई लूटपाट की घटनाएं और हत्या होने के बावजूद ना तो स्टेशन प्रबंधक की आंख खुल रही और ना ही नगर पंचायत या जिला प्रशासन की स्थानीय लोगों की माने तो यहां अगर लाइट की व्यवस्था कर दी जाती है तो उजाले में लूट की घटना को अंजाम देना मुश्किल होगा और लोगों के लिए आसानी हो जाएगी।

छीने हुए बैग मरिचांव गांव के समीप हुआ बरामद

पीड़ित राकेश कुमार गुप्ता ने बताया कि भभुआ थाने में लावारिस बैग होने के बाद मैंने पहुंच कर देखा तो मेरा ही बैग था लेकिन बैग मे रखे कपड़े थे और मेरे पास में रखें ₹2000 रुपए घड़ी दो मोबाइल यह सब सामान नहीं था।

क्या कहते हैं जीआरपी प्रभारी

इस संबंध में भभुआ रोड जीआरपी प्रभारी विनय कुमार राय ने बताया कि इस मामले में एक व्यक्ति ने शिकायत की थी जिसके बाद मैंने उन्हें कहा था कि यह घटना मेरे क्षेत्र में नहीं आता है इसकी सूचना स्थानीय थाना को दीजिए।

वहीं इस संबंध में मोहनिया थाना अध्यक्ष मनोज कुमार ने बताया कि इस मामले में मोबाइल छीनने को लेकर आवेदन आया है मामले की जांच की जा रही है।