शहर में लगातार बढ़ते चाकूबाजी की घटना से आम-अवाम हैं, दहशतजदा

250
0
SHARE

सहरसा- सरेआम बाजार से वापस जा रहें सग्गे तीन भाइयों संजीव, रणधीर और मनोज को अपराधियों ने सदर थाना के मत्स्यगंधा झील के पास चाकू मार जख्मी कर दिया। लगभग तीन की तादाद में हरबो हथियार से लैस आए थे अपराधी। अनान-फनान में स्थानीय लोगों ने इलाज के लिए लाया सदर अस्पताल जहां एक भाई संजीव की हालत नाजुक। जख्मी सदर थाना के सुखासन गाँव का रहने वाला है। वहीं जख्मी ने तीन अपराधी की पहचान की। शहर में लगातार बढ़ते चाकूबाजी से जहां आम-अवाम हैं, दहशतजदा वहीं पूरे इलाके में फैली सनसनी, साथ ही पुलिस की कार्यशैली पर लग रहे है सवालिया निशान। घटना के बाद पुलिस पहुंची सदर अस्पताल वहीं मीडिया को देख सदर के थानेदार मीडिया के कैमरे पर आने से किया परहेज।

हम आपको नजारा दिखा रहे है सदर अस्पताल के आपातकालीन कक्ष का देखिये तीनो जख्मी अपने खास भाई है, तीनो का इलाज चल रहा है। वहीं एक जख्मी की हालत बेहद नाजुक बताई जा रही है। परिजन का हाल किस तरह बार-बार बेहोश होते हुए इस सदमे को सहन नही कर पा रही। बताते चले कि तीनो भाई बाजार से सब्जी खरीदकर वापस अपने घर सुखासन जा रहा था कि सदर थाना के मत्स्यगंधा झील के पास पहले से घात लगाए तीन अपराधी, हरबो हथियार से लैस अचानक चाकू से हमला कर जान लेने की कोशिश की। हालांकि जख्मी रणधीर का कहना है कि इस घटना में दीपक, अभिषेख और मकसूदन तीनो ने मिलकर हम तीनों भाई पर चाकू से हमला किया।बहरहाल पुलिस जख्मी का बयान कलमबंद कर छापामारी में जुट गई है।

इस बाबत जब  सदर के थानेदार राकेश कुमार से बात करने की कोशिश की तो देखिये किस तरह जिप्सी पर बैठे मोबाइल को कानो में लगाते हुए मीडिया के कैमरे पर आने से परहेज किया और चलता बना। कहने का मतलब साफ है कि घटना इतनी बड़ी और पुलिस की संजीदगी नाममात्र। बहरहाल हमने अस्पताल में मौजूद।