शेखपुरा का समाहरणालय परेड ग्राउंड ऐसे बन गया रणक्षेत्र

1071
0
SHARE

शेखपुरा: बिहार के शेखपुरा में जमीनी विवाद को लेकर सोमवार की दोपहर को समाहरणालय  परिसर के परेड ग्राउंड रणक्षेत्र में तब्दील हो गया। जमीन की खरीद-बिक्री को लेकर भू-माफियाओं के बीच जमकर मारपीट हुई। इस दौरान समाहरणालय परिसर में युवकों ने एहसान गिलानी नामक एक वृद्ध को जमकर धुन दिया।

बाद में उन्हें वाहन में बैठाकर जबरन ले जाने का प्रयास किया जाने लगा। इसी दौरान पूर्व मुखिया और राजद के एक नेता ने दूसरे पक्ष के रूप में इसका विरोध कर उस वाहन के सामने आकर आगे बढ़ने से रोक दिया। इसे लेकर राजद के इस नेता के साथ वे लोग उलझ गये और फिर दोनों पक्षों में तनातनी शुरू हो गयी। सूचना मिलते ही मौके पर पहुंची पुलिस ने तीन लोगों को हिरासत में ले लिया।

सूत्रों के अनुसार पटना निवासी एहसान गिलानी नामक व्यक्ति जमीन का कारोबार करता है। उसने धोखाधड़ी के जरिये कई लोगों की जमीन बेच दी है। इस कारण यहां पर उसके खिलाफ धोखाधड़ी के मामले भी दर्ज हैं। वह सोमवार को जब वह समाहरणालय परिसर में देखा गया, तो कई युवक उस पर टूट पड़े।

प्रत्यक्षदर्शियों के अनुसार उन युवकों के परिजन की भी जमीन को एहसान गिलानी धोखाधड़ी के जरिये बेच चुका है। इसी को लेकर दोनों पक्षों में विवाद था तथा उन युवकों में इस वृद्ध को लेकर आक्रोश था। बहरहाल, एहसान गिलानी की पिटाई के बाद मामले ने तूल पकड़ लिया और समाहरणायल में जमा भू-माफियाओं ने परेड ग्राउंड को रणक्षेत्र में तब्दील कर दिया।

गलत तरीके से दूसरों की जमीन बेच कई परिवारों में फूट पैदा करने में माहिर एहसान गिलानी को गिरफ्तार नहीं किये जाने को लेकर पीड़ितों ने पुलिस पर मनमानी का आरोप लगाया है। अहियापुर निवासी मनौव्वर मोहसील ने कहा कि शातिर एहसान गिलानी ने कई लोगों की जमीन को गलत तरीके से बेच दिया है। इसका खामियाजा कई लोगों को भुगतना पड़ रहा है।