शैक्षणिक अराजकता के खिलाफ अभाविप का शंखनाद

200
0
SHARE

औरंगाबाद: ओबरा प्रखंड की गिरती शिक्षा व्यवस्था एवं शिक्षा में व्याप्त भ्रष्टाचार के विरुद्ध अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद के द्वारा शहीद जगतपति की धरती ओबरा प्रखंड में विशाल छात्र रैली एवं सम्मेलन का आयोजन किया गया। सम्मेलन का नेतृत्व नगर मंत्री मोहम्मद साकिब ने तथा मंच संचालन पिंटू कुमार ने किया। लगभग हजारों की संख्या में छात्र छात्राएं शिक्षा व्यवस्था में सुधार हेतु ओबरा हाई स्कूल के मैदान से लेकर बाजार होते हुए ब्लॉक पर सम्मेलन किया।

सम्मेलन का शुभारंभ दीप प्रज्वलित के साथ अभाविप के विश्वविद्यालय संगठन मंत्री अमित कुमार छोटी, विश्वविद्यालय संयोजक राहुल कुमार, जिला संयोजक सौरभ सिन्हा, प्रदेश कार्यकारिणी सदस्य पुष्कर अग्रवाल एवं विकास काली ने सम्मिलित रुप से किया। छात्रों को संबोधित करते हुए अमित कुमार छोटी ने बिहार के शिक्षा व्यवस्था पर प्रहार करते हुए कहा कि जो बिहार कभी पूरे विश्व में शिक्षा व्यवस्था एवं शिक्षा के लिए जाना जाता था आज हार की यह स्थिति हो चुकी है अपने शिक्षा व्यवस्था पर आठ आठ आंसू बहाने पर मजबूर है।

जहां से कभी गौतम बुद्ध और सच्चिदानंद सिन्हा जैसे प्रबुद्ध बुद्धिजीवी उत्पन्न हुए वहां की शिक्षा व्यवस्था इस प्रकार से चरमरा गई है छात्र-छात्राएं बेरोजगारी की महामारी बनकर सामने आ रहे हैं बिहार सरकार के पास शिक्षा नीति को लेकर किसी प्रकार की कोई व्यवस्था नहीं शिक्षा व्यवस्था पूरी तरह से भ्रष्ट हो चुकी है विभाग के अधिकारी पैसे उगाही में लगे हैं और यहां मैट्रिक और इंटर में टॉप करने वाले छात्र-छात्राएं सम्मान नहीं पाते बल्कि जेल जाने के भागी होते हैं वही इस बिहार का नाम रूबी राय जैसे टॉपर और बचा रा्य जैसे शिक्षा माफियाओं ने बदनाम किया विश्वविद्यालय संयोजक राहुल कुमार ने प्रखंड की शिक्षा व्यवस्था पर प्रहार करते हुए कहा कि यह ओबरा संसदीय क्षेत्र से आता है

जिसके संसद केंद्रीय शिक्षा मंत्री है किंतु केंद्रीय राज्य मंत्री का संसदीय क्षेत्र होने के बावजूद भी क्षेत्र में शिक्षा व्यवस्था को लेकर किसी प्रकार की सुविधा नहीं है कृषि महाविद्यालय इंजीनियरिंग कॉलेज मेडिकल कॉलेज तो दूर की बात है बल्कि इस प्रखंड में 1 डिग्री कॉलेज की व्यवस्था नहीं है जिला संयोजक सौरभ सिन्हा नेवी शिक्षा दोस्तों पर जमकर बोला तथा प्रदेश कार्यकारिणी सदस्य पुष्कर अग्रवाल विकास कुमार सानू ने कहा कि यदि जिले की शिक्षा व्यवस्था ठीक नहीं की जाती तो आने वाले समय में विद्यार्थी परिषद कार्य सम्मेलन आंदोलनों में परिवर्तित होगा इस अवसर पर छात्रा विद्या भारती सोनम कुमारी नेवी स्कूल-कॉलेजों की समस्याओं को सामने रखा इस अवसर पर मोहम्मद राजा, विकाश, अरविन्द, सलीम, शिवम्, अजित, चंदन, सौरभ राजपूत, सुदीप, अमित ,विवेक, ऋतिका, विद्याभारती समेत हजारों की संख्या में छात्र छात्राएं उपस्थित रहें।