श्रम प्रवर्तन पदाधिकारी द्वारा ईट भट्ठे में कार्यरत कुल 125 श्रमिकों को किया गया निबंधित

325
0
SHARE

मुकेश कुमार सिंह

सहरसा जिले के महिषी प्रखंड के जलई गांव में श्रम प्रवर्तन पदाधिकारी द्वारा ईट भट्ठा पहुंचकर भट्ठे में कार्यरत कुल 125 ईट निर्माण श्रमिकों को निबंधित किया। उक्त शिविर में निबंधित हुए सभी ईट निर्माण श्रमिकों को सरकार द्वारा दी जाने वाली 15 योजनाओं का सीधा लाभ मिलने की बातें कही गई है।

श्रम प्रवर्तन पदाधिकारी रितेश कुमार ने बताया कि बिहार भवन एवं अन्य संनिर्माण कर्मकार कल्याण बोर्ड के अंतर्गत महिषी प्रखंड के जलई गांव स्थित ईट भट्ठा में कार्यरत कुल 125 मजदूरों को निबंधित किया गया है। जिसके लिए उम्र सीमा 18 से 60 निर्धारित थी। सभी श्रमिकों को सरकार के कुल 15 योजनाओं का लाभ मिलेगा। जिनमें उन्हें सालाना चिकित्सीय लाभ के रूप में तीन हजार रूपए उनके खाते में चले जाएंगे। वहीं उनके दो पुत्रियों की शादी में 50 हजार रूपए का अनुदान भी उनके खाते में जाएगी। साथ ही महिला श्रमिकों को 90 दिन की मजदूरी मातृत्व लाभ के रूप में उनके खाते में जाएगी। वहीं युवा श्रमिकों के पिता बनने पर 6 हजार रूपए का लाभ दिए जाएंगे।

उन्होंने ये भी बताया कि किसी भी श्रमिक के असामयिक मौत पर उनके परिजनों को जहां दो लाख रूपए की सहायता मिलेगी। वहीं दुर्घटना में मृत्यु होने पर चार लाख रूपए की सहायता उनके परिजनों को दी जाएगी।

साथ ही साथ उन्होंने ये भी बताया की मैट्रिक और इंटर में श्रमिकों के पुत्र-पुत्रियों द्वारा प्रथम श्रेणी से पास होने पर नकद पुरस्कार भी दिए जाएंगे। इतना ही नहीं उन्हें औजार खरीदने में 15 हजार रूपए की सहायता भी प्रदान की जाएगी। साथ ही 60 वर्ष के बाद उन्हें पेंशन भी दिए जाएंगे।

मौके पर ईट भट्ठा मालिक मो नईम एवं बिहार भवन एवं अन्य संनिर्माण कर्मकार कल्याण बोर्ड के जिला उपाध्यक्ष नागो पासवान सहित बड़ी संख्या में मजदूर मौजूद थे।