श्रावण मेला से पहले कांवरिया पथ का विकास कार्य पूरा करें – उपमुख्यमंत्री

118
0
SHARE

पटना- उपमुख्यमंमंत्री सुशील कुमार मोदी ने पर्यटन विभाग की विभिन्न विकास योजनाओं की पर्यटन मंत्री प्रमोद कुमार व अन्य वरीय विभागीय अधिकारियों के साथ अपने कार्यालय कक्ष में समीक्षा की तथा कांवरिया पथ (सुल्तानगंज-देवधर) के विकास कार्यों को श्रावण मेला से पहले हर हाल में पूरा करने का निर्देश दिया। कावंरिया सर्किट के लिए भारत सरकार द्वारा स्वीकृत 52 करोड़ 37 लाख की राशि में से 10 करोड़ 47 लाख आवंटित की जा चुकी है। प्रधानमंत्री द्वारा घोषित 1 लाख 65 हजार करोड़ के पैकेज के अन्तर्गत बिहार के धार्मिक, सांस्कृतिक व पर्यटक स्थलों के विकास के लिए 500 करोड़ की योजनाओं को स्वीकृति प्रदान की गई है।

बांका, भागलुपर और मुंगेर जिलान्तर्गत सुल्तानगंज-देवधर के बीच पक्की सड़क के सामानान्तर कावंरियों की सुविधा के लिए एनडीए-1 के दौरान बनाई गई कच्ची सड़क के किनारे महत्वपूर्ण स्थलों थिहुतीजोर, लुल्हा शिवलोक, मोजमा, धानी बेलारी, कंकेश्वर स्थान, सूइया, अजगैबीनाथ, इनाराबरण आदि में स्वीकृत राशि से विश्रामालय का निर्माण कराया जायेगा। मोजमा और धानी बेलारी में विश्रामालय के लिए जमीन अधिग्रहण करने का निर्देश दिया गया है। इसके अलावा शौचालय, पेयजल, कैफेटेरिया आदि के साथ ही सूचना कियोस्क, पूरे रास्ते में कावंरियों के बैठने के लिए 3366 बैंच, 1037 कांवर स्टैंड का निर्माण व 180 सोलर लाइट लगाये जायेंगे।

गांधी परिपथ के लिए 44 करोड़ 65 लाख की स्वीकृति के अतिरिक्त चम्पारण सत्याग्रह शताब्दी वर्ष में बापू परिपथ के लिए 97 करोड़ 86 लाख रुपये व रामायण तथा बौध सर्किट के लिए राशि की स्वीकृति प्रक्रियाधीन है। इसके अलावा जैन परिपथ के लिए 52 करोड़ 38 लाख और मंदार व अन्य परिपथ के लिए 53 करोड़ 49 लाख की स्वीकृति भारत सरकार ने दे दी है। पर्यटन विकास निगम को विकास कार्यों में तेजी लाने व ज्यादा से ज्यादा राशि खर्च करने का निर्देश दिया गया।