संत जेवियर्स कॉलेज ऑफ मैनेजमेंट एंड टेक्नोलॉजी में छात्र-छात्राओं को येसु समाज के सिद्धांतों व लक्ष्यों से परिचित कराया गया

170
0
SHARE

पटना – दिघा स्थित पटना के संत जेवियर्स कॉलेज ऑफ मैनेजमेंट एंड टेक्नोलॉजी में बीबीए, बीसीए, बीसीपी, बीबीई और बीएमसी के प्रथम वर्ष के छात्र-छात्राओं के लिए स्वागत एवं मार्गदर्शन कार्यक्रम का शुभारंभ हुआ। काॅलेज ने प्रथम वर्षीय छात्र-छात्राओं को जेवेरियन परिवार में सहर्ष सम्मिलित किया। कार्यक्रम का शुभारंभ पारंपरिक दीप प्रज्ज्वलित कर किया गया। स्वागत समारोह में काॅलेज के रेक्टर, फा. जोसेफ थडावनाल एस. जे., प्रिंसिपल फा. डाॅ. टि. निशांत एस. जे., उप प्रधानाचार्य फा. मार्टिन पोरस एस. जे., तथा प्रोफेसर्स उपस्थित थे।

कॉलेज के रेक्टर फा जोसेफ थडावनाल एस. जे. ने छात्र-छात्राओं को सम्बोधित करते हुए येसु समाज के सिद्धांतों व लक्ष्यों से परिचित कराया। तत्पश्चात् फा रेक्टर फा जोसेफ थडवानाल एस. जे., प्रिसिंपल, फा. टि. निशांत एस. जे., उप प्रधानाचार्य फा. मार्टिन पोरस एस. जे. ने इस वर्ष के वार्षिक अकादमिक थीम ‘‘ सशक्त महिला, प्रशस्त देश’’ का औपचारिक घोषणा किया। कॉलेज के प्रिसिंपल, फा. डाॅ. टि. निशांत एस. जे. ने छात्र-छात्राओं को संबोधित करते हुए उन्हें जेसुइट परंपरा से रु-बरु करवाया और अपनी इच्छा को व्यक्त करते हुए कहा कि उन्हें अपार खुशी होगी अगर उनके महाविद्यालय के छात्र-छात्रा जेसुइटस् की विशेषताओं को अपने जीवन के मूल्यों से जोड़ पायें। उसके उपरान्त, फा. डाॅ. टि. निशांत ने पावर प्वाइंट प्रेजेंटेशन के माध्यम से फ्रेसर्स को विश्व के कई जेसुइट संस्थानों से परिचित कराया।

कॉलेज के वाइस प्रिंसिपल, फ्रां मार्टिन पोरस एस. जे. ने छात्रों को इस प्रीमियर संस्थान में अपनी सीट हासिल करने के लिए बधाई दी और मानव जीवन के तीन प्रमुख पहलुओं पर जोर देते हुए कहा कि मानव की सफलता तभी सुनिश्चित होे सकती है जब ‘‘मानव अपने चरित्र का सही निर्माण, व्यक्तिगत उत्कृष्टता और सामाजिक संतुलन पर बल दे।’’

बीए – द्वितीय के छात्र शिव नयन ने “स्व-प्रेम“ नामक एक कविता सुनाई। बीए-द्वितीय के शेलेरिटा आनंद और बीए – तृतीय के नीलेश सिंह ने कार्यक्रम की मेजबानी की जबकि बीबीई – द्वितीय के अनुष्का श्रीवास्तव ने धन्यवाद ज्ञापन दिया।
कार्यक्रम तीन सदस्यीय कार्यकारी दल द्वारा आयोजित किया गया, जिसमें अर्थशास्त्र विभाग के प्रोफेसर बी. एन. चैधरी, प्लेसमेंट समन्वयक, आरोही आनंद और सहायक अध्यापक मुकेश कुमार शामिल थे।
कार्यक्रम का समापन राष्ट्रीय गान के साथ हुआ।