सच के साथ समझौता नहीं :- एसपी

426
0
SHARE

श्रीधर पाण्डेय

सारण- बिहार में सिंघम नाम से मशहूर 2011 बैच के तेज तर्रार, मृदुभाषी एवं तीखे तेवर वाले सारण एसपी हरकिशोर राय अपराध और अपराधियों पर नकेल कसने में कोई कसर नहीं छोड़ते। हाईकोर्ट ने सारण पुलिस के खिलाफ दायर याचिका में एसपी सारण और भगवान बाजार थाना के काण्ड संख्या 46/18के अनुसंधान कर्ता को उपस्थित होने का आदेश पारित किया था। दायर याचिकाकर्ता के अनुसार उक्त काण्ड संख्या में निर्दोश को जेल भेजने का आरोप लगाते हुए सारण एसपी हरकिशोर राय एवं केस के अनुसंधानकर्ता को नामजद किया गया था। इस मामले में पटना हाईकोर्ट के समक्ष सारण एसपी हरकिशोर राय ने साक्ष्य प्रस्तुत किए।साक्ष्य के आधार पर न्यायालय के न्यायाधीश ने सारण पुलिस को बेकसूर करार देते हुए क्लीनचिट दे दिया है।

गौरतलब हो कि विवेक भारती पिता वीरेन्द्र भारती जो नई मिसकहरी गली मंझौल रोड थाना मैरवा जिला सीवान को भगवान बाजार थानाकांड संख्या 46/18 में 363,366,420,406,379/34 आईपीसी के तहत अभियुक्त बनाया गया था और जाँच के बाद जेल भेज दिया गया था। जिसके बाद परिजनों के द्वारा आरोप लगाए जा रहे थे कि पुलिस मनमर्जी करते हुए बगैर अपराध किए ही जेल भेजी है, इसी कड़ी में पटना हाइकोर्ट ने साक्ष्य के साथ हाजिर होने का आदेश दिया था। जिसके बाद सारण पुलिस को क्लीनचिट दे दिया।