सदर अस्पताल में एम्बुलेंस के अभाव में कंधे पर ढोये जा रहे हैं शव

296
0
SHARE

जहानाबाद / संवाददाता-

बिहार के स्वास्थ्य विभाग का भगवान ही मालिक है। डॉक्टर और दवाओं की छोड़िये मरने वालों को एम्बुलेंस तक नहीं नसीब हो रहा है। नतीजतन लोग कन्धा पर ही शव को उठाकर घर ले जाने को विवश हैं।

ताजा मामला जहानाबाद के सदर अस्पताल का है, जहां एक व्यक्ति को ठनका गिरने से हुयी मौत के बाद पोस्टमार्टम के लिए जहानाबाद सदर अस्पताल लाया गया। पोस्टमार्टम के बाद शव ले जाने के लिए परिजन स्वास्थ्य विभाग से घंटो गुहार लगाते रहे पर किसी ने एक न सुनी। तकरीबन तीन घंटे तक एम्बुलेंस का इन्तेजार करते-करते निराश परिजनों ने शव को कंधे पर उठाकर घर ले जाना ही मुनासिब समझा। आक्रोशित परिजन प्रशासन विरोधी नारे भी लगा रहे थे। यहां बताते चले कि जहानाबाद सदर अस्पताल की नकारेपन की हाल में खबर मीडिया की सूर्खीयों में रही है जिसमें मरीजों को दलाल ईलाज कर रहा था और डॉक्टर साहब सो रहे थे।