समाज के हर वर्ग को लगे कि जदयू उनकी पार्टी है : आरसीपी सिंह

272
0
SHARE

पटना – जदयू के राष्ट्रीय महासचिव (संगठन) व संसदीय दल के नेता आरसीपी सिंह ने पिछले दिनों हुए अतिपिछड़ा सम्मेलन की शानदार सफलता के उपलक्ष्य में सम्मान समारोह का आयोजन किया। इस भव्य आयोजन में अतिपिछड़ा समाज से आने वाले प्रदेश व जिला स्तर के लगभग चार सौ नेताओं को शाल देकर सम्मानित किया गया। जिन नेताओं को सम्मानित किया गया उनमें मंत्री कपिलदेव कामत, शैलेश कुमार, मदन सहनी, राज्यसभा सदस्य रामनाथ ठाकुर, कहकशां परवीन, विधायक बीमा भारती, विद्यासागर निषाद, अजय कुमार मंडल, लक्ष्मेश्वर राय, सुबोध राय, पूर्व विधानपार्षद चन्द्रेश्वर चन्द्रवंशी, गुंजेश्वर साह, दिलेश्वर कामत, उदयकान्त चौधरी, प्रदेश महासचिव सह मुख्यालय प्रभारी डॉ. नवीन कुमार आर्य, प्रदेश प्रवक्ता डॉ. भारती मेहता, अंजुम आरा, अरविन्द निषाद, बुनकर प्रकोष्ठ के अध्यक्ष मो. कमर नूरानी, जलश्रमिक प्रकोष्ठ के अध्यक्ष सत्येन्द्र सहनी एवं महिला जदयू की अध्यक्ष कंचन गुप्ता प्रमुख हैं। अतपिछड़ा समाज के नेताओं के अतिरिक्त सम्मान-समारोह में पार्टी के कई और नेता उपस्थित रहे जिनमें विधानपार्षद संजय कुमार सिंह उर्फ गांधी जी, विधानपार्षद ललन सर्राफ, प्रदेश महासचिव सह मुख्यालय प्रभारी अनिल कुमार एवं जदयू मीडिया सेल के प्रदेश अध्यक्ष डॉ. अमरदीप प्रमुख हैं।

इस अवसर पर उपस्थित नेताओं को अतिपिछड़ा सम्मेलन एवं रोड शो की सफलता पर बधाई देते हुए आरसीपी सिंह ने कहा कि पार्टी के इन कार्यक्रमों से जहां “बढ़ता बिहार, नीतीश कुमार” का नारा हर तरफ गूंजा, वहीं लोगों को जदयू के संगठन की ताकत का भी पता चला। उन्होंने कहा कि हमारे दल की सफलता इस बात में है कि पूरे समाज को लगे कि जदयू उनकी पार्टी है। हमें पता होना चाहिए कि हम किस रास्ते पर चल रहे हैं और कौन-सा नेता हमें सही रास्ते पर ले जा सकता है। जदयू के हर सच्चे सिपाही का फर्ज बनता है कि समाज से भेदभाव की मानसिकता को पूरी तरह खत्म करने में अपना योगदान दे। आगे उन्होंने कहा कि मुख्यमंत्री नीतीश कुमार के अथक प्रयत्न से आज अतिपिछड़ा वर्ग के लोग समाज की मुख्यधारा में हैं और इस वर्ग को अपनी संख्या के अनुपात में प्रतिनिधित्व मिले इस बात के लिए वे सदैव प्रयत्नशील रहते हैं।

सम्मान-समारोह में अन्य वक्ताओं ने कहा कि अतिपिछड़ा सम्मेलन और रोड शो से अतिपिछड़ा समाज आंदोलित हुआ है। अब हमें पंचायत स्तर तक अपने संगठन को मजबूती देकर अपने नेता के काम को समाज के हर वर्ग तक पहुँचाना है। इस अवसर पर उपस्थित नेताओं ने मुख्यमंत्री नीतीश कुमार का आभार जताया कि उन्होंने अतिपिछड़ा समाज की बेटी डॉ. भारती मेहता को बिहार राज्य संस्कृत बोर्ड की अध्यक्ष बनाकर ऐतिहासिक कार्य किया है। आरसीपी सिंह ने डॉ. भारती मेहता को इस मौके पर विशेष तौर पर सम्मानित किया।