समेकित चेकपोस्ट पर जाम कि समस्या से जूझते लोग

645
0
SHARE

कैमूर/ संवाददाता

बिहर सरकार को सबसे ज्यादा राजस्व देने वाला समेकित चेकपोस्ट पर जाम कि समस्या अब आम हो गयी है। सबसे ज्यादा व्यस्त रहने वाला राष्ट्रीय राजमार्ग-2 अब जाम को ले कर आए दिन सुर्खियों में रहता है। इन दिनों कोई भी इस रास्ते से गुजरना मुनासीब नहीं समझता क्योंकि यहां पर पीछले तीन दिनों से भयानक लम्बा जाम लगा हुआ है। यह जाम लगभग दस किलोमीटर से भी ज्यादा है, जिसमें कई लोग फंसे हुए हैं। यूपी से सटे कैमूर जिला होने के कारण यहां के मरीजों को बराबर यूपी के वाराणसी रेफर किया जाता है लेकिन इस नासूर बने जाम के कारण कई लोग इलाज के अभाव में दम तोड़ दे रहे हैं, वहीं चेकपोस्ट और एनएच के अधिकारी जाम का ठीकरा एक दूसरे पर फोड़ रहे हैं। यह राजमार्ग दो महानगरों कलकत्ता से दिल्ली को जोड़ता है। ट्रक के ड्राइवरों का आरोप है कि हमलोग को कलकता से जितना समय दिल्ली जाने में लगता है। उससे ज्यादा समय हमलोगों चेकपोस्ट को पार करने में लग जाता है। कई लोगों के माल का गहकी भी ज्यादा समय से जाम में खड़े होने के कारण फेल हो जाता है क्योंकि चौबीस घण्टे के अन्दर बॉर्डर पार करना होता है। लेकिन जाम के कारण गाड़ियां पार नहीं हो पाती हैं। अब लोग इसे एनएच-2 न कह कर इसे जाम वाली सड़क कह रहे हैं। वहीं एनएचआई ने बताया कि सेल टैक्स के लिंक स्लो होने के कारण बराबर यहां जाम लगा रहता रहा है लेकिन चेकपोस्ट अधिकारी जाम का जिम्मेदार बेतरतीब ढंग से खड़ी गाड़ियों को मान रहे हैं। उनका कहना है कि हमारा लिंक ठीक है। लोग बदनाम कर रहे हैं। दोनों लोग कुछ भी कहे लेकिन एनएच-2 पर जाम अब परेशानि का सबब बना हुआ है। लोग परेशान हैं लेकिन अधिकारी जाम छुड़ाने कि जगह एक-दूसरे पर ठीकरा फोड़ने पर लगे हुए हैं।