सरकार भारत बंद के दौरान हजारों युवा राजद कार्यकर्ताओं पर दर्ज फर्जी मुकदमा वापस ले – युवा राजद

245
0
SHARE

पटना – युवा राजद के प्रदेश प्रवक्ता सह मीडिया प्रभारी अरूण कुमार यादव ने कहा कि केन्द्र सरकार के खिलाफ एस0सी0/एस0टी0 एक्ट में संसोधन के विरूद्ध 02 अप्रैल को भारत बंद के दौरान तानाशाह नीतीश सरकार के इशारे पर पुलिस प्रशासन ने राज्य भर में एक हजार से अधिक राजद के कार्यकर्ताओं के उपर फर्जी मुकदमा दर्ज कर गिरफ्तारी का भय दिखाकर प्रताड़ित कर रही है। कार्यकर्ताओं के घर पर लगातार पुलिस गिरफ्तारी के लिए छापेमारी उस तरीके से करती है जैसे कोई बड़ा अपराधी हो। युवा राजद के गया जिलाध्यक्ष सतीश दास सहित 27 कार्यकर्ताओं को फर्जी मुकदमा दर्ज कर जेल भी भेज दिया है।

उन्होंने कहा कि नीतीश सरकार लगातार लोकतांत्रिक मूल्यों के साथ खिलवाड़ कर ही है। लोकतंत्र को समाप्त करने पर तुली हुई है। जब भी आंदोलनकारी अपनी मांग को लेकर सड़क पर आंदोलन के लिए उतरते हैं तब-तब उनकी मांग और आवाज को दबाने के लिए नीतीश सरकार दमनात्मक रवैया अपनाती है। पुलिसिया लाठी-गोली के सहारे और फर्जी मुकदमा दर्ज कर लोगों को डराती है। नीतीश कुमार की सरकार को युवा राजद चेतावनी देती है कि प्रदेश के आंदोलनकारियों और प्रदर्शनकारियों के उपर दर्ज फर्जी मुकदमा शीघ्र सरकार वापस ले अन्यथा युवा राजद आंदोलन करेगी।