सवर्ण गरीबों के आरक्षण की हिमायती है कांग्रेस – सदानंद सिंह

168
0
SHARE

पटना – बिहार कांग्रेस विधानमंडल दल के नेता सदानंद सिंह ने कहा कि कांग्रेस सवर्ण गरीबों के आरक्षण की हिमायती है| ऊँची जातियों के ऐसे लोग जो आर्थिक और शैक्षणिक रूप से पिछड़े हैं; जो गरीबी रेखा से नीचे जीवन बसर कर रहे हैं; उन्हें आरक्षण का लाभ मिलना चाहिये| ताकि वे लोग भी गरीबी से निजात पा सकें| स्वतंत्र भारत में अपनी उन्नति कर सकें|

सिंह ने कहा कि कांग्रेस नेतृत्व में ही समाज से आर्थिक, सामाजिक और शैक्षणिक विषमता को दूर करने के लिये अनुसूचित जाति और जनजातियों के लिये आरक्षण की व्यवस्था संविधान में हुई थी| बाद के दिनों में समाज के अन्य पिछड़े वर्गों को आरक्षण देने के उद्देश्य से काका कालेलकर की अध्यक्षता में पिछड़ा वर्ग आयोग का गठन भी कांग्रेस की नेहरू सरकार ने ही की थी| आज सवर्ण गरीबों को आरक्षण देने की पहल भी कांग्रेस ही कर रही है|

उन्होंने कहा कि पिछड़े वर्ग के समर्थ लोगों को आरक्षण देने से संविधान में आरक्षण के प्रावधान का मकसद पूरा नहीं होता है| अब पिछड़े वर्ग के आईएएस, आईपीएस, आईएफएस आदि सरीखे लोगों को आरक्षण देने का कोई औचित्य है| कांग्रेस हमेशा से समरस समाज की परिकल्पना पर कार्य करती रही है| समाज के सभी वर्गों के गरीबों की चिंता कांग्रेस ही करते आई है| इंदिरा सरकार ही देश में ‘गरीबी हटाओ’ के प्रति कृतसंकल्पित थी| बाद की कांग्रेस सरकारों ने गरीबों के उत्थान के लिए सर्वाधिक योजनाएँ शुरू कीं|