सहरसा मानसी रेल खंड पर परिचालन बाधित कर प्रदर्शन

468
0
SHARE

खगड़िया: खगड़िया जिला में नवादा घाट से धमहारा घाट तक सड़क निर्माण को लेकर सहरसा मानसी रेल खंड को बाधित कर हजारों की संख्या में प्रदर्शनकारी रेल ट्रैक पर धरना दे कर बैठ गए। हालांकि आंदोलनकारियों की मांग बहुत पुरानी है। इस आंदोलन की सूचना पूर्व में ही प्रशासन, जिलापदाधिकारी एवं जिला पुलिस अधीक्षक को दे दिया गया था। लेकिन न तो कोई मजिस्ट्रेट और न ही पुलिस की व्यवस्था पर्याप्त थी। सवाल उठता है जब इसकी जानकारी पूर्व में थी तब प्रशासन क्या ट्रैक रोके जाने का इंतजार कर रही थी। पहले क्यों नही आंदोलनकारियों से वार्ता की गयी। धमहारा स्टेशन पर राज्यरानी एक्सप्रेस को करीब तीन घंटे तक आंदोलनकारियों ने अपने कब्जे में ले रखा था।

उस क्षेत्र के लोगों की मांग बहुत पुरानी है। नवादा घाट से धमहारा घाट पर सड़क निर्माण को लेकर। यह सड़क प्रधानमंत्री सड़क योजना से बनना था और सड़क का निर्माण कार्य भी शुरू हुआ 2012-13 में। सड़क निर्माण 11 किलोमीटर होना है। इस पर अभी तक 14 करोड़ रूपये खर्च भी हो गए हैं। परंतु अभी तक निर्माण कई सालों से अधूरा है। इसकी शिकायत प्रशासन एवं स्थानीय विधायक से भी किया गया लेकिन कोई भी इसका समाधान निकालने के पक्ष में नही दिखा। अंत में इस क्षेत्र के लोगों का कहना है कि उनके पास आंदोलन के अलावे कोई विकल्प नहीं बचा। आज सुबह से ही जिला परिषद उपाध्यक्ष मिथिलेश कुमार के नेतृत्व में हजारों की संख्या में आंदोलनकारी रेल ट्रैक पर धरना दे कर बैठ गए। धरना की सुचना पूर्व में ही प्रशासन को दे दिया गया था। फिर भी प्रशासन को यहां पहुचने में तीन घंटे लग गए। सदर एसडीओ के आने पर उनके द्वारा आश्वासन देने पर आंदोलनकारियों ने अपना आंदोलन समाप्त किये। और फिर रेल की आवाजाही शुरू हो पाया। इस तीन घंटे में ट्रेन में बैठे पैसेंजरों को काफी मुश्किल का सामना करना पड़ा।