साक्षरता कर्मी महासंघ के बैनर तले साक्षरता कर्मियों ने निकाला प्रतिरोध मार्च

201
0
SHARE

बेगूसराय – साक्षरता कर्मी महासंघ के बैनर तले साक्षरता कर्मियों ने आज प्रतिरोध मार्च निकाला और जिला शिक्षा कार्यालय में ताला बंद कर दिया। जिला शिक्षा पदाधिकारी के वार्ता उपरांत कार्यालय का ताला खोला गया। इस अवसर पर जनशिक्षा निदेशक डॉ विनोदानंद झा का साक्षरताकर्मियों ने पुतला भी जलाया।

प्रतिरोध मार्च मालगुदाम रेलवे स्टेशन के निकट से निकला और ट्रैफिक चौक कचहरी रोड होते हुए समाहरणालय पहुंचा जहाँ साक्षरता कर्मी महासंघ के प्रतिनिधि मंडल के द्वारा जिलाधिकारी को माँगा पत्र सौंपा। फिर वहां से जिला शिक्षा कार्यालय पर पहुंच तालाबंदी कर प्रतिरोध मार्च सभा मे तब्दील हो गया।

सभा को संबोधित करते हुए वक्ताओं ने कहा कि हम साक्षरता कर्मी वर्षो से साक्षरता कार्यक्रम में कार्य कर रहे हैं और अपने जीवन का स्वर्णिम काल इस कार्यक्रम में खपा दिया अब एकाएक सरकार के पदाधिकारी के द्वारा यह कह देना कि कार्यक्रम बंद हो गया हम साक्षरताकर्मिओं पर बज्रपात के समान है। साक्षरतकर्मियो ने कहा कि हम अपनी हक की लड़ाई के लिए किसी भी हद तक जाने को तैयार हैं। मांगपत्र में लगभग 2 वर्षो से बकाया मानदेय व कार्यालय खर्च भुगतान करने, सभी साक्षरताकर्मियो की सेवा स्थाई करने ,लिटरेसी फॉर्म के द्वार बिहार सरकार को समर्पित योजना को लागू करने, अक्षर आँचल योजना का अवधि विस्तार कर उसमें अक्षर आँचल व साक्षर भारत कर्मी को समायोजित करने एवं साक्षरताकर्मियो के विरुद्ध साजिस रचने वाले जनशिक्षा निदेशक डॉ विनोदानंद झा को पद से हटाने का मांग शामिल था।

सभा की अध्यक्षता दसरथ दास ने किया। प्रतिनिधि मंडल में संयोजक रुक्मिणी कुमारी, बिजय सिंह, जितेंद्र जीतू, बबन कुमार पांडव, मुरलीधर पासवान, बशिष्ठ कुमार, पुष्पा कुमारी, अशोक पासवान आदि शामिल थे। सभा को रामू कुमार, रामानन्द, रामसुमिरन सुमन राजाराम दास, लेखा समन्वयक प्रणव कुमार आदि ने संबोधित किया