सात दिवसीय फिल्म निर्माण कार्यशाला सफलतापूर्वक संपन्‍न

294
0
SHARE

पटना, 10.02.2017: बिहार राज्य फिल्म विकास एवं वित्त निगम लिमिटेड (कला,संस्कृति एवं युवा विभाग, बिहार) के तत्‍वावधान में आयोजित सात दिवसीय फिल्म निर्माण कार्यशाला का सफलतापूर्वक समापन आज निगम कार्यालय मॉरीसन भवन में हो गया। इस दौरान फिल्म निर्माण कार्यशाला में शामिल शशि कान्त कुमार शर्मा, सय्यद आमिर अब्बास, सीमान्त कुमार, नाज़िला ज़ैनाब, श्रुति प्रिया, राहुल कुमार, विकास कुमार, स्वस्तिक सौम्या, राजन आनंद,अभिजीत कुमार गुप्ता, जितेंद्र मोहन,अनुज कुमार रॉय, राजेश कुमार ऍम. एबीएस, मृत्युंजय शर्मा, नीरज कुमार, सय्यद एस तौहीद, नवीन कुमार, रणवीर कुमार को प्रशस्‍ति पत्र देकर सम्‍मानित किया गया।

बतौर विशेषज्ञ फिल्‍मकार प्रवीण कुमार ने बताया कि बिहार राज्य फिल्म विकास एवं वित्त निगम लिमिटेड  ने बिहार में पहली बार इस तरह की कार्यशाला का आयोजन कर राज्‍य में फिल्‍म निर्माण की संभावनाओं को और पुख्‍ता किया है। बिहार में फिल्‍मों के लिए जमीन तैयार करने के लिए ऐसी कार्यशाला की जरूरत है, जहां प्रतिभागियों को इमेज देखने के नजरिए और उससे महसूस करने के नजरिए का विकास हो सके। श्री कुमार ने कहा कि हालांकि कम अवधि में प्रशिक्षण के बाद बहुत अच्‍छी फिल्‍म की उम्‍मीद संभव नहीं है। बावजूद इसके कई गलतियों के बीच कार्यशाला में शामिल बच्‍चों ने एक शानदार आगाज किया है। ये बच्‍चे काफी प्रतिभाशाली हैं।

इस कार्यशाला को बिहार में फिल्‍मों की संभावनाओं को तलाशने का बेहतर जरिया बताया गया। राज्‍य में पहली बार फिल्‍म निर्माण के क्षेत्र में कोई कार्यशाला आयोजित की गई, जिसमें फिल्‍म निर्माण से जुड़ी तकनीक जैसे कैमरा, लाइटिंग, सिनेमेटोग्राफी जैसे महत्‍वपूर्ण बिंदुओं पर लोगों को प्रशिक्षित किया गया। खासतौर पर मुंबई से फिल्‍मकार प्रवीण कुमार का प्रभाव इस कार्यशाला पर रहा।

फिल्‍म निर्माण कार्यशाला से प्रशिक्षित बच्‍चे तकनीकी रूप से मजबूत हुए हैं, जो आने वाले दिनों में अपनी प्रतिभा से बिहार का नाम रौशन करेंगे। इन युवाओं का एक तरह से फिल्‍मों में तकनीकी रूप से दखल बढ़ेगी और मानव संसाधन के रूप में इनका विकास होगा। फिल्‍म निर्माण कार्यशाला के अंतिम दिन सभी प्रतिभागियों द्वारा बनाए गए फिल्‍मों का भी प्रदर्शन किया गया। चार अलग–अलग ग्रुप में बंटे प्रतिभागियों के फिल्‍म क्रमश: आई लव यू पापा, फॉर सम वन स्‍पेशल, अनाम और डब्‍ल्‍यू प्रदर्शन हुआ। कार्यशाला के समापन समारोह के दौरान भारतीय प्रशासनिक सेवा के श्री आर एन दास (सेवानिवृत्त), रंगकर्मी तनवीर अख्‍तर, एन एन पांडेय, प्रेमलता मिश्र, कार्यशाला के संयोजक कुमार रवि कांत मौजूद थे।