सामयिकी

959
0
SHARE

बहुत बने थे चालू जी
खूब फंसे हैं लालू जी
देखो कैसे पीछे पड़ गया
सी बी आई का भालू जी

खूब फंसे हैं लालूजी

खुद तो फंस गए चारा में
लड़का फंस गया ला रा में
अब तो इनका सारा कुनबा
मच्छी मारेगा कारा में
गरम समोसे से है छिटका
देखो कैसे आलू जी

खूब फंसे है लालू जी

भैंस चराते चरवाहे को
माय का वरदान मिला
समाजवाद के महा गरीब को
सबसे ज्यादा दान मिला
फूँक फूँक मट्ठा पीने में
जल गया इनका तालू जी

खूब फंसे हैं लालू जी

महाजाल में फंस गई मीसा
विफल हुआ,हनुमान चालीसा
सिंगापुर की याद सताती
ले आई केला बत्तीसा
बहती नदी का पानी सूखा
बच गया केवल बालू जी

खूब फंसे हैं लालू जी
बहुत बने थे चालू जी

लिट्टी चोखा खाते खाते
हज़म कर गए माटी भी
रैली,रैला में दिखलाया
तेल पिलाई लाठी भी
गाल बजाते रह गए हरदम
राजनीति में गालू जी

खूब फंसे हैं लालू जी
बहुत बने थे चालू जी।
^^^^^^^^^^^^^^^^^^^^^^^

(ज्योतींद्र मिश्र जी के fb वाल से )