सिंधिया स्कूल पर गंभीर आरोप

182
0
SHARE

मध्यप्रदेश के ग्वालियर स्थित सिंधिया स्कूल में  दरभंगा के अजय चौधरी ने अपने पुत्र आदित्य चौधरी को वर्ष 2007 में कक्षा सात में दाखिला दिलवाया था जहाँ आदित्य ने चार वर्षों तक पढ़ाई की। मैट्रिक की परीक्षा होने में महज चार माह बाकी था की उनके पिता अजय चौधरी को स्कूल के शिक्षक ने फोन पर सूचित किया कि आपका पुत्र आदित्य हॉस्टल से भाग गया है। खोजबीन के दौरान पता चला कि आदित्य स्कूल के ही एक टीचर के आवास पर जख्मी रूप में है। ग्वालियर पहुँचने पर अजय ने अपने पुत्र के दोनों  हथेली को कटा देखा जिसे देख वो विचलित हो उठे। उन्होंने घटना के बारे में स्कूल प्रबंधन से जानने की कोशिश की किन्तु घटना के समबन्ध में उन्हें कुछ भी जानकारी प्रबंधन द्वारा उपलब्ध नही करवाई गई। चार माह बाद ही पुत्र का मैट्रिक का परीक्षा होने वाला था। पिता ने सोचा की परीक्षा के उपरान्त पुत्र को यहां से हटा लेंगे किन्तु आदित्य ने अपने पिता से दुबारा स्कूल नहीं जाने की जिद्द पकड़ ली। स्कूल जाने की बात सुनते ही वो डर जाता था। जब पिता ने पुत्र को वापस ले आने की सोची तो हास्टल से उसका सामान लेने गए जहां उन्होंने पाया कि उनके पुत्र का आई पैड सहित कई किमती  सामान गायब था। अजय की माने तो जब उनका पुत्र वहां पढ़ रहा था तो स्कूल फीस के अलावे भी प्रबंधन के कुछ कर्मियों द्वारा नजराना माँगा जाता था। नहीं दिए जाने पर छात्रों के साथ भेदभाव किया जाता था।

अभी ग्वालियार के सिंधिया स्कूल में मंत्री के बेटे के साथ रैगिंग का मामला शांत भी नहीं हुआ कि बिहार के दरभंगा के पढ़ने वाले सिंधिया स्कूल के छात्र के पिता ने स्कूल प्रबंधन पर कई आरोप लगते हुए आरोपों की झड़ी लगा दी | दरअसल दरभंगा से  बीजेपी  के सांसद कीर्ति आज़ाद के साला (पत्नी के भाई) अजय चौधरी ने अपने पुत्र का भी नामांकन सिंधिया स्कुल में सातवें वर्ग में कराया। बीच-बीच में कई बार बच्चों के माध्यम से स्कूल की शिकायत मिलती रही पर वे नज़रअंदाज़ करते रहे पर जब बच्चे की जान पर आ गयी तो उन्होंने अपने बेटे आदित्य को वहां से हटा लिया। स्कूल में बच्चे के साथ बड़ी ही बेहरमी के साथ मार-पीट किया गया। शरीर पर कई जगह गहरे जख्म भी थे। डर के कारण अजय चौधरी ने  स्कूल प्रबंधन के खिलाफ  पुलिस को तो शिकायत नहीं की पर वहां प्रिंसिपल के पास जरुर शिकायत की। अब जब की मंत्री के बेटे का मामला सामने आया तब अजय चौधरी ने भी अपनी शिकायत वहां के सीनियर एसपी को फोन पर दी। बाद में पुलिस के एक अधिकारी ने इनका बयान भी दर्ज किया| स्कूल प्रबंधन पर आरोप लगाते हुए अजय चौधरी ने कहा कि स्कूल में खूब रैगिंग होती है। स्कूल प्रबंधन हमेशा बड़े गिफ्ट की मांग करते हैं। इनसे भी एक मकान की मांग की गयी थी जो पूरा रही कर पाए जबकि छोटे-मोटे डिमांड होने वाले गिफ्ट वे हमेशा देते रहे |