सीएम के नीशाने पर शिक्षक, अभिभावक और बच्चे

398
0
SHARE

बिहार के मुख्यमंत्री जीतन राम मांझी अपने बयानों को लेकर चर्चा में रहते हैं। इस बात का एहसास अब उन्हें भी हो गया है। तभी तो अब वो खुल कर बोलने लगे हैं कि उनकी बातों को मीडिया चाशनी लगा कर लिखती है। विरोधी उन्हें पागल तक कहते हैं लेकिन उन्हें कोई फर्क नही पड़ता। कुछ ऐसा ही अंदाज देखने को मिला शिक्षा संबंधित एक निजी कार्यक्रम में। यहां  वे खूब बोले और उनके निशाने पर रहे टीचर।

इस कार्यक्रम में जीतन राम मांझी पहुंचे थे। बात शुरू हुई सरकारी शिक्षकों की। और फिर क्या था?  मुख्यमंत्री के निशाने पर सरकारी टीचर आ गए।

मुख्यमंत्री ने अपने अंदाज में सरकारी टीचरो को आईना दिखाने की कोशिश की। साथ ही ये भी माना कि बिहार के सरकारी स्कूलों का हाल ठीक नहीं है। उन्होंने  टीचरों पर क्लासरूम में खैनी खाकर पढ़ाने का आरोप लगा दिया तो  बच्चो से लेकर उनके परिजनों पर शराब और सिगरेट पीने की तोहमत भी लगा दी।

वे यहीं नहीं रुके। उन्होंने आज के युवा पीढ़ी पर भी जमकर चुटकी ली। बताया कैसे आज के बच्चे अपने माँ बाप को सम्बोधित करते हैं। हाल-फिलहाल जीतन राम मांझी अपने इसी तरह के बयानों की वजह से चर्चा में हैं।