सीएम ने मजार पर चादरपोशी कर मांगी अमन की दुआ

411
0
SHARE

पटना: बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने पटना स्थित हाइकोर्ट मजार पर उर्स के तीसरे और अंतिम दिन चादरपोशी कर सूबे के तरक्की की दुआएं मांगीं। मुख्यमंत्री का काफिला शाम में तकरीबन आठ बजे बेली रोड स्थित हाइकोर्ट मजार पर पहुंचा। उन्होंने चादर लेकर हजरत सैयद शहीद गुलाम सफदर पीर मुराद शाह रहमतुल्लाह अलैह की मजार पर चढ़ाई और राज्य के तरक्की की दुआ मांगी।

उनके पहले उपमुख्यमंत्री तेजस्वी यादव और पीएचइडी मंत्री कृष्णनंदन वर्मा ने भी हजरत सैयद शहीद गुलाम सफदर पीर मुराद शाह रहमतुल्लाह अलैह की मजार पर चादरपोशी की। उन्होंने कहा कि बिहार में अमन आमान हर हाल में कायम रहेगा।

तीन दिवसीय उर्स के अंतिम दिन शहर व सूबे के कोने-कोने से आए हजारों लोगों द्वारा चादरपोशी का सिलसिला अंतिम दिन पूरे चरम पर था। इसके साथ ही फैजान ए औलिया कॉन्फ्रेंस भी आयोजित की गयी। इसमें शाम में नातिया मुशायरे का भी आयोजन हुआ।

मुशायरे में बिहारशरीफ के शहजादा शरफुद्दीन फिरदौसी, शमीम मुनन्नमी और उमर नुरानी आदि शरीक हुए। इसके पहले अकीदतमंदों ने चादरपोशी करने के बाद फातिहा पढ़ा और दुआएं मांगीं।

उर्स में काफी भीड़ उमड़ी। लोगों ने बच्चों और परिवार वालों के साथ मेले का लुत्फ उठाया। मेला देर रात तक चलता रहा। मजार पर हाजिरी देने वालों में सभी जाति व धर्म के लोग शामिल थे। जिसमें महिलाओं की भी अच्छी खासी तादाद थी।

इसके साथ ही पीर मुराद के बगल में ही स्थित जोड़ा मजार हजरत जमालउद्दीन व हजरत कमालउद्दीन की मजार पर भी अकीदतमंदों की भारी भीड़ देखी गई। परिसर में हजारों की तादाद होने से चादर चढ़ाने आ रहे काफिले को मजार तक पहुंचने में काफी देर लग रही थी। सभी लोगों की इच्छा थी कि वे किसी तरह मजार पर पहले पहुंचकर चादरपोशी करें और दुआएं मांगें।

चादर चढ़ाने वालों की काफी भीड़ होने की वजह से बेली रोड पर वाहनों की कतार लग गई। दरअसल लोग जुलूस के साथ मजार पर चादरपोशी करने जा रहे थे।