सुपौल में झोलाछाप डॉक्टर ने ली एक की जान, मौत के बाद परिजनों का फूटा गुस्सा

247
0
SHARE

सुपौल लोहिया नगर चौक पर स्थित शिव हॉस्पिटल में डॉक्टर की लापरवाही ने एक मरीज किे जान ले ली। जिससे नाराज़ मृतक के परिजनों ने डॉक्टर के क्लिनिक पर गुस्सा उतारा, देखते ही देखते डॉक्टर को क्लिनिक के अंदर ही बंद कर दिया।

उसके बाद डॉक्टर एवं सिविल सर्जन के खिलाफ आगजनी कर नारेबाजी करने लगे, किशनपुर थाना के महीपट्टी गांव में बस से दुर्घटना हो गई थी। जहाँ चिकित्सकों ने मरीज को सदर अस्पताल रेफर कर दिया। किंतु सदर अस्पताल ने भी उसे दरभंगा रेफर कर दिया जिसे लेकर जा रहे थे, तभी रास्ते में शिव हॉस्पिटल के डॉक्टर रमेश कुमार ने रोक दिया और बोले में ठीक कर दूंगा चिंता कि कोई बात नहीं है, मामूली चोंटे आई हैं परिजन डॉ के बात पर इलाज कराने लगे, किंतु इलाज के दौरान डॉक्टर अपने केबीन में ही बैठा रहा और नर्स से सब काम करवाया।

डॉक्टर कि लापरवाही से मरीज कि हालत बिगड़ने लगी और मरीज कि मौत हो गई। मौत होने के बाद डॉक्टर अपने केबिन से बाहर निकले और बोले मरीज को आइसीयू में रखना पड़ेगा। इसके लिए डॉ. बी के यादव के यहाँ ले जाना पड़ेगा गाड़ी लेकर आता हूँ यह कह कर डॉक्टर अस्पताल से भाग गया साथ ही नर्स भी वहां भाग गई ।

जानकारों का कहना है डॉक्टर रमेश कुमार होमियोपैथी के डॉक्टर है न कि एमबीबीएस के डॉ.रमेश ने डॉ.बी कुमार एवं डॉ.पी के यादव एमबीबीएस सिविल चिकित्सा पदाधिकारी सदर प्रखंड सुपौल का नेमप्लेट लगा रखा है जो जाली है इस नाम के कोई भी डॉक्टर सुपौल में नहीं हैं। मरीज को गुमराह करने के लिए क्लिनिक में गलत डॉक्टर का नाम लिखा गया है। रमेश कुमार झोलाछाप डॉ. है। यहाँ मरीज दलाल एवं आशा नर्स के माध्यम से आते हैं, जिसे मोटी रकम दी जाती है ।