सुपौल में सरकारी कर्मचारी की हत्या से सनसनी

597
0
SHARE

सुपौल: बिहार के सुपौल जिले से सटे कहरा गांव निवासी शंकर कुमार झा की शनिवार की देर रात गला रेतकर हत्या कर दी गई। कर्मी के शरीर पर भी चाकुओं के कई निशान मिले हैं। इसके अलावा उनके सिर पर भी वार किया गया है। सहरसा से सुपौल जाने वाले मार्ग पर सदर थाना के शाहपुर गांव से आगे बाढ़ राहत शिविर के पास पुलिया के पास से शव मिला है।

पुलिस ने शव को कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया। हत्या की खबर मिलते ही शहर में सनसनी फैल गई। हत्या के बाद आक्रोशित लोगों ने शव के साथ शहर के थाना चौक को जाम कर प्रदर्शन किया। आक्रोशित लोगों ने हत्यारोपियों की तुरंत गिरफ्तारी की मांग की।

प्रत्यक्षदर्शियों के मुताबिक रविवार की सुबह लगभग 6 बजे लोगों ने पुलिया के पास एक व्यक्ति का शव देखा। सूचना पुलिस को दी गई। सदर पुलिस ने लाश के पास से दो झोला व चाकू भी बरामद किया। लाश के पास से बरामद चाकू में खून का निशान नहीं था। पुलिस का कहना है कि हत्या कहीं और कर यहां शव फेंका गया है।

मृतक बड़े पुत्र दिनकर झा ने बताया कि सुपौल कलक्ट्रेट में वर्षों से पदास्थापित थे। जनवरी में वे सेवानिवृत होने वाले थे। शनिवार होने की वजह से वे सुपौल से घर के लिए निकले। निकलने के बाद उनके बारे में कोई जानकारी नहीं मिली। सुबह में उन्हें सूचना मिली की उनके पिता की हत्या हो गई है।

सुपौल एसपी अश्विनी कुमार ने बताया कि प्रथम दृष्टया हत्या कहीं बाहर कर वहां लाश फेंक देने का मालूम पड़ रहा है। क्योंकि वहां खून के भी बहुत कम धब्बे मिले हैं। सभी पहलुओं को ध्यान में रखकर छानबीन की जा रही है।