सुशासन की सरकार में फुटपाथ पर बच्चे पढ़ने को मजबूर

221
0
SHARE

पटना – बिहार के मुखिया नीतीश कुमार भले ही सुशासन की बात करते हो अच्छी शिक्षा व्यवस्था की बात करते हो पर ये तस्वीरे कुछ अलग ही बयां कर रही है, ये तस्वीरे और कहीं की नहीं बल्कि मुख्यमंत्री आवास से महज 500 मीटर दूर अवस्थित गर्दनीबाग प्राथमिक विद्यालय की है। अब सवाल उठना लाजमी है कि जो सरकार राज्य में ही नहीं पूरे देश में खुद के कामो का डंका बजा रही हो और उसके नाक के नीचे ही ये सब हो रहा हो और उन्हें पता तक नहीं चला।

सरकार हमेशा से ही लेट कदम उठाती है जिसका खामियाजा आम जनता को भुगतना पड़ता है। अगर फुटपाथ पर पढ़ रहे बच्चों के साथ कुछ अनहोनी होती है तो उसकी जिम्मेदारी कौन लेगा, आखिर बच्चे फुटपाथ पर पढ़ने को क्यों मजबूर हैं वो भी जब विद्यालय भवन मौजूद है। जब हमने इसके संबंध में वहां पढ़ रहे बच्चे से जानना चाहा और उनके शिक्षक से जानना चाहा तो क्या था उनका कहना हम आपको बताते हैं।

शिक्षक सुषमा कुमारी बताती हैं कि स्कूल कैम्पस में पानी भरा होने के कारण बच्चों को फुटपाथ पर पढ़ाने को मजबूर हैं। ये पहली बार नहीं हर साल दो से चार दिन दिक्कत हुई है पर इसबार कुछ ज्यादा ही दिक्कत है। हमने इसकी सूचना यहां के प्रभारी को दी है।

वहीं स्कूली छात्र ने बताया कि विद्यालय के बाहर बहुत सारा पानी भर आया है इसलिए हमलोग सड़क के किनारे पढ़ रहे हैं।